Kharinews

खरी बात

 

बिन गौ चल रही शाला...............बस घोटाला ही घोटाला ?

धीरज चतुर्वेदी छतरपुर : 22 अगस्त/ गौशाला यानि गाय की दुकाने जगह- जगह संचालित है लेकिन गौवंश सडको पर मुंह मारता, कहराता, भूखा प्यासा, भटकता बैमोत मारा जा रहा है। सरकारी जमीन पर कब्जा और...

Read Full Article
 

मीडिया, बच्चे और असहिष्णुता पर मीडिया संवाद में हुआ सार्थक विमर्श

ओरछा से लौटकर सुमित कुमार की रिपोर्ट विकास संवाद मध्यप्रदेश द्वारा पिछले 10 वर्ष से राष्ट्रीय मीडिया संवाद का सफल आयोजन किया जा रहा है। इस वर्ष 11 वें राष्ट्रीय मीडिया संवाद का सफल आयोजन...

Read Full Article
 

प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र हुए बीमार, कैसे बनेगा ‘न्यू इण्डिया’

मफतलाल अग्रवाल डिजिटल इण्डिया, मेक इन इण्डिया, स्टार्ट अप इण्डिया के नारे के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से एक बार फिर ‘न्यू इण्डिया’ बनाने...

Read Full Article
 

रोटी, शराब और पेट्रोल नई विश्व व्यवस्था में इनके रिश्ते के मायने

जयराम शुक्ल यह सुनकर आपको अटपटा लग सकता है कि भला रोटी का शराब और पेट्रोल से क्या रिश्ता हो सकता है? नई विश्व व्यवस्था में जिस तरह अन्न के उपयोग की प्राथमिकताएं बदल रही...

Read Full Article
 

राम, कृष्ण, स्वधीनता, स्वतंत्रता के जानिए मायने

जयराम शुक्ल हम सब ने इस साल स्वाधीनता दिवस और जन्माष्टमी एक साथ मनाई। ये अँग्रेजी- हिन्दी तिथियां संयोग से एक दिन पड़ी। एक पराधीनता से मुक्ति का पर्व दूसरा एक ऐसे महाविभूति का जन्मदिवस...

Read Full Article
 

देश की प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाओं का दिल और घुटना हो चुका है खराब

राकेश अचल गोरखपुर हादसे के बाद सरकार को हृदयहीन मानने वाले लोगों को अपना ख्याल बदल लेना चाहिए. सरकार ने दिल के बाद घुटने की चिंता करते हुए घुटने के प्रत्यारोपण का खर्च बाँध दिया...

Read Full Article
 

बच्चों के रहने लायक नहीं छोड़ा हमने अपना हिन्दोस्ताँ

पुण्य प्रसून बाजपेयी 14-15 अगस्त 1947। दुनिया के इतिहास में एक ऐसा वक्त जब सबसे ज्यादा लोगों ने एक साथ सीमा पार की। एक साथ शरणार्थी होने की त्रासदी को झेला। एक साथ मौत देखी।...

Read Full Article
 

श्श्श्श......कौम खामोश है...!!! क्या हम आज़ाद हैं ?

स्मिता कुमारी हे मानव....!! हाँ मैं मानव से ही बातों को साझा करना चाहती हूँ, जिनमें मानवता होती है। मैं समझ रही हूँ कि जो लोग यह लेख पढ़ रहे होंगे वह मानवीय  नजर से...

Read Full Article
 

आज़ादी के 70 साल बाद भी आज़ाद नहीं हुई काली पन्नी से सेनेटरी पैड्स और कॉन्डोम

स्मिता कुमारी 70 वीं स्वतंत्रता दिवस पर स्वतंत्र भारत की स्वतंत्र मानसिकता को जानने के उद्देश्य से मैं एक मेडिकल स्टोर पर गई। वहाँ दुकानदार के अलावा दो ग्राहक खड़े थे। मैं जब तक दुकान...

Read Full Article
 

गुनाहगार होने की क्या जरुरत है ,बस मुसलमान होना ही काफी है!

भंवर मेघवंशी डॉ कफील जिन्होंने बीआरडी हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी से झुझते बच्चों को बचाने के लिए भागदौड़ की ,जिन पर कई लोगों ने नाज़ किया ,देश के भाईचारा पसंद नागरिकों ने उन्हें सलाम...

Read Full Article


Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive