Kharinews

मासिक धर्म स्वच्छता दिवस : महिलाओं में बढ़ी है पीरियड्स के प्रति जागरूकता

May
28 2022

नई दिल्ली, 28 मई (आईएएनएस लाइफ)। निस्संदेह, शहरी क्षेत्रों में पीरियड्स के प्रति जागरूकता बढ़ी है, महिलाओं ने कपड़े के बजाय सैनिटरी पैड का चयन किया है। आर. बाल्की (जिन्होंने पैडमैन बनाई थी) जैसे फिल्म निर्माताओं ने भी इन धारणाओं को काफी हद तक बदल दिया है।

हजारों महिलाओं और लड़कियों को केवल मासिक धर्म के कारण कलंकित, अलग-थलग और उनके साथ भेदभाव किया जाता है। एक सर्वेक्षण के अनुसार, अचार को छूने की अनुमति नहीं देना, काम नहीं करना, रसोई में प्रवेश करने या सामान्य खाद्य पदार्थो या बर्तनों को छूने की अनुमति नहीं देना और भी बहुत कुछ एैसी वर्जनाएं हैं।

आज भी साल 2022 में महिलाओं को अपने पीरियड्स के दौरान खुद को नॉर्मल मानने की बजाय खुद को आइसोलेट करने की हिदायत दी जाती है।

उचित अवधि स्वच्छता के लिए जागरूकता बढ़ाने की जरूरत है

मासिक धर्म और उससे जुड़े विषयों के बारे में जागरूकता बढ़ाना महत्वपूर्ण है ताकि इसे सामान्य के रूप में देखा जा सके, न कि किसी चीज के लिए शर्मिदा होना या छिपाना पड़े।

इन समस्याओं को दूर करने के लिए, लड़कियों को भावनात्मक और शारीरिक रूप से तैयार होने में मदद करने के लिए उचित शिक्षा और जागरूकता प्रदान की जानी चाहिए।

पीरियड्स के लिए गंदे कपड़े का बार-बार नियमित रूप से उपयोग करने से प्रजनन प्रणाली में संक्रमण हो सकता है। जैसे कि बैक्टीरियल वेजिनोसिस या मूत्र पथ के संक्रमण (यूटीआई), जो आगे चलकर पैल्विक संक्रमण में बदल सकते हैं।

चूंकि ये संक्रमण श्रोणि में फैल सकते हैं, वे गर्भधारण करना मुश्किल बना सकते हैं या गर्भावस्था के मुद्दों जैसे कि प्रीटरम लेबर का कारण भी बन सकते हैं।

खराब स्थानीय स्वच्छता सर्वाइकल कैंसर के जोखिम कारकों में से एक है, खराब स्वच्छता लंबे समय में सर्वाइकल कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकती है।

यह महत्वपूर्ण है कि प्राथमिक विद्यालय में कपड़े के ऊपर सैनिटरी पैड का उपयोग शुरू हो। ग्रामीण इलाकों में लड़कियों को कपड़े की जगह इस्तेमाल और प्रोत्साहित करने के लिए उन्हें सैनिटरी पैड दिए जाने चाहिए।

उच्च गुणवत्ता वाले स्वच्छता उत्पादों तक पहुंच की कमी भारत में 100 प्रतिशत मासिक धर्म स्वच्छता कवरेज तक पहुंचने में एक बड़ी बाधा है।

(डॉ. शिल्पा घोष ऑब्सटेट्रिक्स एवं गायनिकोलॉजी निदेशक और वरिष्ठ सलाहकार हैं)

--आईएएनएस

पीजेएस/एसजीके

Related Articles

Comments

 

राजस्थान कांग्रेस ने भाजपा के आतंकवादियों से कथित संबंधों की एनआईए जांच की मांग की

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive