Kharinews

गूगल क्रोम ब्राउजर सिक्योरिटी बढ़ाने को तैयार

Mar
01 2021

सैन फ्रॉन्सिस्को, 1 मार्च (आईएएनएस)। गूगल क्रोम ब्राउजर जल्द ही एचटीटीपीएस को डिफॉल्ट के रूप में उपयोग करने का प्रयास करेगा, जब यूजर्स एचटीटीपी या एचटीटीपीएस प्रीफिक्स लिखना भूल जाते हैं।

यह कदम ब्राउजर सुरक्षा बढ़ाने के लिए क्रोम इंजीनियरों के प्रयासों के अनुरूप है।

जेडडी ने पिछले हफ्ते की रिपोर्ट में बताया कि एचटीटीपीएस- पहला बदलाव क्रोम 90 में आएगा, जिसे इस साल अप्रैल के मध्य में रिलीज किया जाएगा।

वर्तमान में, जब कोई यूजर्स ओम्निबॉक्स में एक लिंक टाइप करता है - क्रोम एड्रेस (यूआरएल) बार - क्रोम प्रोटोकॉल की परवाह किए बिना टाइप किए गए लिंक को लोड करेगा।

लेकिन अगर यूजर्स प्रोटोकॉल नहीं जोड़ते हैं, तो क्रोम प्रीफिक्स एचटीटीपी जोड़ देगा और एचटीटीपी के माध्यम से डोमेन को लोड करने का प्रयास करेगा।

क्रोम सुरक्षा इंजीनियर एमिली स्टार्क के अनुसार, यह क्रोम 90 में बदल जाएगा।

वी 90 से शुरू होकर एचटीटीपी के माध्यम से साइट को खोलने का प्रयास करेगा, जब यूजर्स किसी यूआरएल को टाइप करते समय प्रीफिक्स छोड़ देते हैं।

गूगल ने पहले कहा था कि क्रोम में सुरक्षित ब्राउजिंग स्वचालित रूप से आपको दुर्भावनापूर्ण विज्ञापनों से बचाती है और खतरनाक साइटों पर जाने या संदिग्ध फाइलों को डाउनलोड करने से पहले आपको चेतावनी देती है।

गूगल ने कहा, यदि आप क्रोम का उपयोग करते हैं, तो आपकी पासवर्ड सुरक्षा स्वचालित रूप से अंतर्निहित हैं।

क्रोम पहले से ही लोगों को चेतावनी देता है जब वे असुरक्षित एचटीटीपी पेज पर पासवर्ड या पेमेंट कार्ड डेटा सहित सेंसिबल जानकारी शेयर करते हैं।

--आईएएनएस

एवाईवी/एएनएम

Related Articles

Comments

 

बंगाल चुनाव : छठे चरण में हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बीच 79 फीसदी मतदान

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive