Kharinews

आईएसआई समर्थित मॉड्यूल की गिरफ्तारी के साथ पंजाब में हाई अलर्ट

Sep
15 2021

चंडीगढ़, 15 सितम्बर (आईएएनएस)। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पिछले महीने आईईडी टिफिन बम से एक तेल टैंकर को उड़ाने की कोशिश में शामिल आईएसआई समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल के चार और सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद राज्य में हाई अलर्ट का आदेश दिया है। पिछले 40 दिनों में राज्य में पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने का यह चौथा मामला है।

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बुधवार को खुलासा किया कि इस मामले में एक पाकिस्तानी खुफिया अधिकारी सहित पाकिस्तान के दो लोगों की भी पहचान की गई है और उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

मुख्यमंत्री ने आतंकवादी समूहों द्वारा शांति भंग करने के बढ़ते प्रयासों को गंभीरता से लेते हुए पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है, खासकर स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों के फिर से खुलने के साथ-साथ त्योहारी सीजन और विधानसभा चुनावों को देखते हुए।

उन्होंने डीजीपी को विशेष रूप से व्यस्त स्थानों जैसे बाजारों आदि के साथ-साथ राज्य भर में संवेदनशील प्रतिष्ठानों पर उच्च स्तर की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा है।

गिरफ्तारियों की जानकारी देते हुए, डीजीपी ने इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (आईएसवाईएफ) के प्रमुख लखबीर सिंह रोडे, उर्फ बाबा, मोगा जिले के रोडे गांव के मूल निवासी, जो वर्तमान में पाकिस्तान में स्थित है और आतंकी मॉड्यूल के पीछे पाकिस्तानी खुफिया अधिकारी कासिम का हाथ है।

मंगलवार को गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान रूबल सिंह, विक्की भुट्टी, मलकीत सिंह और गुरप्रीत सिंह के रूप में हुई है।

जबकि एक सितंबर की हत्या के मामले में वांछित रुबल को हरियाणा के अंबाला से शाम करीब पांच बजे पकड़ा गया था, जबकि अन्य तीन को अजनाला और अमृतसर में उनके गांवों से पकड़ा गया था। उनके पांचवें साथी गुरमुख बराड़ को पहले कपूरथला पुलिस ने 20 अगस्त को गिरफ्तार किया था।

डीजीपी ने कहा कि कासिम और रोडे ने विस्फोट को अंजाम देने के लिए आतंकवादी मॉड्यूल को दो लाख रुपये देने का वादा किया था।

उन्होंने कहा कि धन के लेन-देन का पता लगाने के लिए वित्तीय पहलुओं की भी जांच की जा रही है।

रुबल और विक्की भुट्टी कासिम के संपर्क में थे, जो रोडे के साथ मिलकर काम कर रहा था। रोडे और कासिम ने कथित तौर पर एक आतंकवादी मॉड्यूल के चार सदस्यों को लोगों और संपत्ति को अधिकतम नुकसान पहुंचाने के लिए एक तेल टैंकर को विस्फोट करने का काम सौंपा था।

8 अगस्त की रात करीब 11.30 बजे अजनाला पुलिस को सूचना मिली कि भाखा तारा सिंह गांव के पास अमृतसर-अजनाला रोड स्थित शर्मा फिलिंग स्टेशन अजनाला में खड़े एक तेल टैंकर में आग लग गई है।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम

Related Articles

Comments

 

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने न्यायमूर्ति बागची को कलकत्ता हाईकोर्ट में तबादले की सिफारिश की

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive