Kharinews

दिल्ली उच्च न्यायालय ने भाजपा नेताओं के खिलाफ समन मामले में निचली अदालत के फैसले पर रोक लगाई

Dec
08 2021

नयी दिल्ली,8 दिसंबर(आईएएनएस) दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली जल बोर्ड में करोडों रुपए के घोटाले का आरोप लगाने वाले भाजपा विधायक रामवीर सिंह बिधूडीऔर तीन अन्य भाजपा नेताओं के खिलाफ मुकदमा चलाए जाने के निचली अदालत के आदेश पर बुधवार को स्थगन आदेश जारी किया।

दिल्ली जल बोर्ड में करोडों रुपए के घोटाले का आरोप विधानसभा में विपक्ष के नेता तथा भाजपा विधायक रामवीर सिंह बिधूडी और तीन अन्य पार्टी नेताओं ने लगाया था और इसके खिलाफ श्री चडढा ने राउज एवेन्यू की अदालत में मानहानि का वाद दायर किया था।

दिल्ली उच्च न्यायालय के न्यायाधीश मनोज कु मार ने श्री चडढा तथा दिल्ली जल बोर्ड को नोटिस जारी किया तथा भाजपा नेताओं को अपना जवाब मामले की अगली सुनवाई 16 मार्च 2022 तक देने को कहा है।

गौरतलब है कि 21 जनवरी 2021 को भाजपा नेताओं ने एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया था कि दिल्ली जल बोर्ड में 26,000 करोड रुपए का घोटाला हुआ है। इसके बाद श्री चडढा ने अपने वकील प्रशांत मनचंदा के जरिए दायर एक शिकायत में कहा था कि भाजपा नेताओं ने दिल्ली जल बोर्ड को दलाली जल बोर्ड कहा था। इस शिकायत में यह भी कहा गया था कि प्रतिवादियों ने सोशल मीडिया, फेस बुक, टवीटर और प्रिंट मीडिया में भी अपमानजनक टिप्पणियां की थी तथा इन्हें दिल्ल्ली भाजपा के टवीटर पेज पर भी साझा किया था। शिकायत में यह भी कहा गया था कि इस तरह के अपमानजनक तथ्यों को हिन्दी समाचार पत्रों ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था तथा इनका दिल्ली भाजपा के फेसबुक पेज पर लाइव प्रसारण भी किया गया था।

उधर श्री बिधूडी ने अपने वकीलों नीरज, सत्य रंजन स्वैन के माध्यम से दायर जवाब में न्यायालय को अवगत कराया कि विधानसभा में विपक्ष का नेता होने के कारण दिल्ली सरकार में होने वाली अनियमितताओं का पर्दाफाश करने में वह सबसे आगे हैं। भाजपा नेता ने कहा कि किसी भी लोकतंत्र में सरकार की अनियमितताओं को जनता के सामने लाना विपक्ष की जिम्मेदारी है तथा यह प्रक्रि या लोकतांत्रिकि प्रणाली को संतुलित करती है।

श्री चडढा और जल बोर्ड की तरफ से वरिष्ठ वकीलों आर वेंकटरमन और अजय बर्मन पेश हुए थे।

हालांकि भाजपा नेताओं ने जो आरोप लगाए थे उनके संबंध में किसी भी जांच एजेंसियों की तरफ से जल बोर्ड के ला आफिस को अभी तक कोई नोटिस या समन नहीं भेजा गया है।श्री चडढा ने कहा है कि जो समन जारी किए गए हैं उनकी जानकारी दिल्ली जल बोर्ड के विधि सलाहकार कार्यालय की ओर से उन्हें दी जा चुकी है। निचली अदालत के आदेश में कहा गया था कि इस मामले में जो शिकायत की गई है उसमें साक्ष्यों तथा अदालत के समक्ष जो सामग्री उपलब्ध कराई गई है उसे देखते हुए अदालत प्रथम द्वष्टया संतुष्ट है कि भाजपा नेताओं के खिलाफ समन जारी करने के पर्याप्त आधार हैं।

आईएएनएस

जेके

Related Articles

Comments

 

आयकर विभाग ने हरियाणा में तलाशी अभियान चलाया, 550 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकदी का पता चला

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive