Kharinews

यूएई में ड्रोन हमला : 2 भारतीयों की मौत, हौथी समूह ने ली जिम्मेदारी (लीड-1)

Jan
17 2022

नई दिल्ली, 17 जनवरी (आईएएनएस)। यमन के हौथी विद्रोही समूह ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में हुए एक विस्फोट की जिम्मेदारी ली है, जिसमें दो भारतीयों सहित तीन लोग मारे गए।

अबू धाबी पुलिस के अनुसार, तीन व्यक्ति - दो भारतीय और एक पाकिस्तानी मारे गए। इसके अलावा छह अन्य घायल हो गए।

समूह के प्रवक्ता याह्या सारी ने एक संक्षिप्त प्रेस बयान में कहा, संयुक्त अरब अमीरात के अंदर स्ट्रेटेजिक ऑपरेशन पर विवरण प्रकट करने के लिए आने वाले घंटों में एक महत्वपूर्ण बयान की घोषणा की जाएगी।

आधिकारिक डब्ल्यूएएम समाचार एजेंसी ने अबू धाबी पुलिस की एक घोषणा का हवाला देते हुए बताया कि यूएई की राजधानी के मुसाफ्फा औद्योगिक जिले में अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी (एडीएनओसी) की भंडारण सुविधाओं के पास तीन पेट्रोलियम टैंकरों के विस्फोट के बाद आग लग गई। इसके बाद हौथी समूह ने हमले को लेकर बयान जारी किया।

डब्ल्यूएएम के अनुसार, अबू धाबी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के नए निर्माण क्षेत्र में भी आग लग गई।

डब्ल्यूएएम ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि आग और विस्फोट संभवत: क्षेत्र में अज्ञात ड्रोन के कारण होने की आशंका है।

यूएई सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन का एक सक्रिय सदस्य है, जो यमन के विभिन्न क्षेत्रों में हौथी विद्रोही मिलिशिया के खिलाफ बड़े पैमाने पर युद्ध लड़ रहा है।

सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन ने 2015 में यमनी संघर्ष में राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार का समर्थन करने के लिए हस्तक्षेप किया, जब ईरान समर्थित हौथी मिलिशिया ने उन्हें राजधानी सना से बाहर कर दिया।

हौथी मिलिशिया ने हाल ही में विभिन्न सऊदी शहरों के खिलाफ सीमा पार ड्रोन और मिसाइल हमलों को तेज कर दिया है। फरवरी 2021 में, हौथी मिलिशिया ने मध्य यमन में तेल-समृद्ध प्रांत मारिब पर कब्जा करने के लिए सरकारी सेना के खिलाफ एक बड़ा हमला किया था।

हौथी समूह जांच एजेंसियों के रडार पर है, क्योंकि उसने संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ आतंकवादी हमले की योजना की घोषणा की थी।

ऐसा कहा जाता है कि हौथी समूह संयुक्त अरब अमीरात सरकार से खुश नहीं है और हाल ही में यूएई के एक जहाज रवाबी को पकड़ लिया गया था। यह दावा करते हुए डहाज पकड़ा गया था कि यह हथियार ले जा रहा है, जिसे उनके खिलाफ इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने भारत सरकार द्वारा समर्थित संयुक्त राष्ट्र में इस मुद्दे को उठाया। जहाज के चालक दल में सात भारतीय नागरिक भी थे।

--आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Related Articles

Comments

 

आईपीएल 2022 फाइनल में गुजरात के मुकाबले राजस्थान का पलड़ा भारी : स्मिथ/रैना

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive