जल संकट के बीच जलभराव से दिल्लीवासी परेशान, नहीं मिल रहा निदान

0
13

नई दिल्ली, 26 जून (आईएएनएस)। दिल्लीवासी एक ओर पानी की बूंद-बूंद के लिए तरस रहे हैं, दूसरी ओर मानसून आने से पहले ही जगह-जगह जलभराव की तस्वीरें सामने आ रही हैं। सड़कों की हालत बेहद खस्ता है, गड्ढों की वजह से राहगीरों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

जलभराव से लोग हर दिन हादसे के शिकार हो रहे हैं। ट्रैफिक जाम की भी समस्या उत्पन्न हो रही है। शहर में हल्की बारिश से यह आलम है, जब मूसलाधार वर्षा होगी तो तस्वीर बद से बदतर हो जाएगी। स्थानीय लोगों का कहना है कि नेता से लेकर निगम पार्षद और प्रशासन तक कोई इसकी सुध नहीं ले रहा है।

ऋषिपाल ने कहा कि यह समस्या बीते कई वर्षों से चली आ रही है। स्थानीय विधायक और निगम पार्षद एक-दूसरे को इसका जिम्मेदार ठहराते हैं। दोनों नेताओं की राजनीति में जनता को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

खस्ता हाल सड़कों की वजह से दुकानदारों को भी काफी नुकसान हो रहा है। संडे बाजार का रोजगार भी ठप हो गया है। दुकानदार संदीप ने बताया कि बारिश आते ही सड़क में 4 से 5 फीट तक पानी भर जाता है। जिससे हमें काफी नुकसान झेलना पड़ता है। जलभराव के चलते दुकान में कोई भी ग्राहक नहीं आ रहा है। दुकान का किराया भी देना मुश्किल हो गया है ।

दुकानदार डॉ. एमएस त्यागी ने बताया कि इस सड़क का बुरा हाल नेताओं ने किया है। इतनी गंदी राजनीति मैंने अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी। सात साल पहले इसी सड़क पर स्थानीय नेताओं ने प्रदर्शन किया था। लेकिन, चुनाव जीतने के बाद उन्हें अब यह समस्या नजर नहीं आ रही है।

सड़कों पर जलभराव की समस्या से स्कूल जाने वाले बच्चों के अभिभावक भी परेशान हैं। स्थानीय महिला सोनिया ने कहा कि मेरी शादी को 8 साल हो गए हैं तभी से यह समस्या देख रही हूं। एक जुलाई से बच्चों के स्कूल खुलने वाले हैं, इस सड़क से बच्चे कैसे स्कूल जाएंगे। सरकार को इतनी बड़ी समस्या का समाधान करना चाहिए।