झारखंड को नशा मुक्त प्रदेश बनाना सरकार का संकल्प : चंपई सोरेन

0
13

रांची, 26 जून (आईएएनएस)। झारखंड के सीएम चंपई सोरेन ने कहा है कि सरकार नशामुक्त झारखंड बनाने को लेकर कृतसंकल्प है। जन-जन को नशा से दूर रखने का अभियान राज्य के कोने-कोने में चल रहा है। जनसहभागिता से हम यह संकल्प पूरा करेंगे।

सीएम ने बुधवार सुबह रांची के मोरहाबादी मैदान में नशामुक्त झारखंड अभियान के तहत राज्यस्तरीय जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

सोरेन ने कहा कि मादक पदार्थों के तस्कर स्कूल, कॉलेज के आसपास के क्षेत्रों में अपना जाल फैलाते हैं और युवा वर्ग को नशे के अंधकार में धकेलते हैं। तस्करों का नेटवर्क तोड़ने के लिए राज्य की पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। कई जगहों पर अफीम की खेती को नष्ट किया गया है। ब्राउन शुगर, गांजा, डोडा आदि मादक पदार्थों की बड़े पैमाने पर रिकवरी भी हुई है। सैकड़ों की संख्या में आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। मादक पदार्थों की तस्करी से जुड़े अंतरराज्यीय गैंग्स का पर्दाफाश किया गया है तथा सप्लाई चेन को चिन्हित कर कार्रवाई भी की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा हमारे राज्य और देश के भविष्य हैं। युवाओं को नशा मुक्त रख कर ही समृद्ध प्रदेश का निर्माण किया जा सकता है।

उन्होंने युवाओं को आह्वान किया करते हुए कहा कि वे स्वयं के साथ-साथ दूसरों को भी नशा से दूर रहने के लिए प्रेरित करें और नशा मुक्त समाज के निर्माण में भूमिका निभाने का संकल्प लें।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नशा मुक्ति पर प्रकाशित एक पुस्तक का अनावरण भी किया।

राज्यस्तरीय अभियान के तहत नशाबंदी के खिलाफ मानव श्रृंखला बनाई गई। इसके अलावा साइकिल रेस और बच्चों के लिए मैराथन दौड़ का भी आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में मंत्री सत्यानंद भोक्ता, मुख्य सचिव एल खियांग्ते, डीजीपी अजय कुमार सिंह के अलावा बड़ी संख्या में छात्र-युवा मौजूद रहे।