दिल्लीवासियों का आरोप, वाटर टैंकर वाले पैसे लेते हैं, फिर देते हैं पानी

0
11

नई दिल्ली, 13 जून (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इन दिनों पानी की किल्लत अपने चरम पर है। आलम यह है कि लोग एक-एक बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। पानी की किल्लत से बेहाल दिल्लीवासी सरकार से बस यही पूछ रहे हैं कि आखिर उन्हें इससे कब छुटकारा मिलेगा।

इस बीच, दिल्ली के वसंत विहार इलाके में रहने वाले लोगों ने आईएएनएस से बातचीत के दौरान बड़ा आरोप लगाया है। यहां के बाशिंदों ने कहा कि उन्हें वाटर टैंकर वालों को पैसे देने पड़ते हैं, तब जाकर उन्हें पानी मिलता है। कई बार पैसे देने के बावजूद भी इस बात की गारंटी नहीं होती कि उन्हें पानी मिलेगा। कई बार कतारें इतनी लंबी होती हैं कि पानी मिलने की गारंटी नहीं रहती। इस संबंध में स्थानीय विधायक के पास शिकायत दर्ज करवाई जा चुकी है, लेकिन अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है।

वसंत विहार इलाके के बाशिंदों ने आईएएनएस से बातचीत में बताया, “हम टैंकर वालों को पैसे देते हैं, तब जाकर वो यहां आते हैं और हमें पानी देते हैं। आमतौर पर छोटे टैंकर वालों को 50 से 100 रुपए और बड़े टैंकर वालों को 200 रुपए तक देने पड़ते हैं। अगर हम उन्हें पैसे नहीं देंगे, तो वो टैंकर लेकर नहीं आएंगे। यही नहीं, पैसे देने के बावजूद भी इस बात की गारंटी नहीं है कि आपको पानी मिलेगा कि नहीं। कई बार लोगों ज्यादा होते हैं और पानी कम होता है। हम कई बार इस संबंध में स्थानीय विभाग में शिकायत दर्ज करवा चुके हैं, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उधर, दिल्ली सरकार भी इस मसले को लेकर कोई ज्यादा गंभीर नजर नहीं आ रही है। हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। हमें टैंकर वालों को पैसे देने पड़ रहे हैं। अगर हम उन्हें पैसे नहीं देंगे, तो वो पानी नहीं देंगे।“

दिल्ली के वसंत विहार इलाके में लोग पानी की किल्लत की वजह से त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। जैसे-तैसे सुबह-शाम टैंकर आता है, लेकिन वह पानी मांग को पूरा करने के लिए अपर्याप्त है। इसको लेकर राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी है। दिल्ली सरकार का तर्क है कि हरियाणा की ओर से कम पानी छोड़ा जा रहा है, जबकि बीजेपी का कहना है कि आम आदमी पार्टी द्वारा लगाए जा रहे आरोप पूरी तरह से बेबुनियादी हैं, जिनमें कोई सत्यता नहीं है। हरियाणा की ओर से दिल्ली के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा है, लेकिन दिल्ली सरकार के संरक्षण में पल रहे टैंकर माफिया पानी चोरी कर रहे हैं, जिसकी वजह से यहां पानी की किल्लत पैदा हो रही है। बसंत विहार ही नहीं, बल्कि दिल्ली के कई इलाके पानी की किल्लत से परेशान हैं। वसंत विहार इलाके के बाशिंदों का आरोप है कि कांग्रेस से लेकर आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय राजधानी की सत्ता में आई, लेकिन आज तक समस्या का समाधान नहीं कर सकी।