पॉलिटिकल आईसीयू में विपक्ष, कांग्रेस सुविधानुसार करती है लोकतंत्र का उपयोग : विजय सिन्हा

0
13

पटना, 25 जून (आईएएनएस)। भाजपा आपातकाल की 50 वीं वर्षगांठ को काला दिवस के रूप में मना रही है। मंगलवार को जगह-जगह भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की ओर से तमाम कार्यक्रमों का आयोजन किया गया था। बिहार के बेगूसराय जिला पंहुचे राज्य सरकार के स्वास्थ्य और कृषि मंत्री मंगल पांडे ने पार्टी की ओर से आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया।  

इस दौरान आपातकाल को लेकर मंगल पांडे ने कहा कि विपक्ष सदमे में है। विपक्ष पॉलिटिकल आईसीयू में है। क्या करना है, उनको समझ में नहीं आ रहा है। देश की जनता ने इस लोकसभा चुनाव में उनको पराजित किया और प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में लगातार तीसरी बार सरकार बनाने का जनादेश दिया है।

उन्होंने कहा कि विपक्ष हताशा और निराशा में अनर्गल बयानबाजी कर रहा हैं। संविधान की पुस्तक के लेकर लोकसभा में जा रहे हैं। जिनकी नेता इंदिरा गांधी ने 1975 में देश के अंदर संविधान को खत्म करने का काम किया था, लोकतंत्र को खत्म करने का काम किया था, वे लोग जब संविधान किताब लेते हैं तो हंसी आती है। कांग्रेस के लोगों के लिए आज का दिन देशवासियों से माफी मांगने का दिन है। आपातकाल को लेकर कांग्रेस को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

तेजस्वी यादव पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि तेजस्वी को अपने पिताजी और माताजी से पूछना चाहिए कि जब उनका राज था तो मुख्यमंत्री आवास में कैसे अपराधियों का आना-जाना था। अपराधियों का सारा सेटिंग गेटिंग सीएम हाउस से होता था। तेजस्वी यादव को उस समय के अखबार के पन्ने निकाल लेना चाहिए। आपके शासन को पटना हाईकोर्ट ने जंगलराज कहा था। इसके साथ ही नीट को लेकर मंगल पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार बहुत सक्रियता और गंभीरता से काम कर रही है। जांच जारी हैं, जो भी दोषी लोग होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

लोकसभा अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर राज्य के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र को अपनी सुविधा के अनुसार उपयोग करती है और लोकतंत्र की दुहाई देती है। लोकतंत्र में सबको चुनाव लड़ने का अधिकार है, मगर कांग्रेस हमेशा परंपरा को तोड़ती है। कांग्रेस इस बार भी इसी तरह का प्रयास कर रही है, मगर वह सफल नहीं होगी।

वहीं दूसरे डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए पहली बार चुनाव होना स्थापित लोकतांत्रिक परंपराओं को शर्मसार करने वाली घटना है। इंडिया गठबंधन के नेता देश के विकास में योगदान देना नहीं चाहते हैं। देश की जनता से जिन्हें लोकसभा चुनाव में हरा दिया, वो लोग सरकार बनाने का सपना पाले बैठे है। देश, संविधान और लोकतंत्र के साथ विपक्ष जिस तरह मजाक कर रहा है, उसे देश की जनता कभी माफ नहीं करेगी।