Kharinews

कोरोना को रोकने ड्यूटी मे जवान चुस्त, घर की जरूरतों से मुक्त

Apr
09 2020

ग्वालियर, 9 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए मध्य प्रदेश के बड़े हिस्से में लॉकडाउन किया गया है, जिससे पुलिस की जिम्मेदारी और बढ़ गई है। जवानों को ज्यादा समय सड़क पर तैनात रहना पड़ रहा है, ऐसे में उनके परिवारों की जरूरत को पूरा करने का जिम्मा विभाग ने उठाया है। यही कारण है कि परिवारों की जरूरत की सामग्री की महज कुछ समय में पूर्ति के लिए सुपर स्टोर स्थापित किए गए हैं।

ग्वालियर परिक्षेत्र में आने वाले जिलों ग्वालियर, शिवपुरी, गुना और अशोक नगर में पुलिस ने अपने कर्मचारियों के परिजनों की समस्या के निदान के लिए अनोखा प्रयोग किया है। यहां सभी जिला मुख्यालयों की पुलिस लाइन में सुपर स्टोर स्थापित किए गए है। इसका एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है, जिससे संबंधित जिले के सभी पुलिस कर्मचारियों के परिवार के एक-एक सदस्य को जोड़ा गया है।

ग्वालियर क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) राजा बाबू सिंह ने आईएएनएस से कहा, लॉकडाउन में पुलिस जवान पूरी मुस्तैदी से अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहा है, ऐसे में उस पर परिवार की जरूरतों का बोझ न रहे इस मकसद से पुलिस ने यह पहल की है। सभी जिला मुख्यालयों के पुलिस लाइन में सुपर स्टोर स्थापित किए गए हैं।

उन्होंने कहा, इन स्टोर में सभी तरह की आवश्यक सामग्रियां उपलब्ध हैं जो एक परिवार की जरूरतों को आसानी से पूरा कर सकती हैं। ऐसी व्यवस्था की गई है कि कोई भी परिवार अपनी जरूरी सामग्री की सूची व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से स्टोर को बता सके, इसके बाद संबंधित कर्मचारी के घर महज कुछ ही देर में सामान पैक कर के पहुंचा दिया जाता है। इससे ड्यूटी कर रहे कर्मचारी की चिंता दूर हो गई है।

बताया गया है कि सभी सुपर स्टोर की जिम्मेदारी एक प्रमुख अफसर के नेतृत्व में छह जवानों के पास है। यह जवान सामग्री को संबंधित कर्मचारी के घर तक पहुंचाने में मदद करते हैं।

एक तरफ जहां परिवार की जरूरतों को आसानी से पूरा करने के मकसद से सुपर स्टोर बनाए गए हैं, तो दूसरी ओर ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों की सुविधा का भी खास ख्याल रखा जा रहा है। यहां टाटा 407 गाड़ी को चलित नाश्ता घर में बदल दिया गया है। इस गाड़ी में गर्म पानी, चाय, कफी और नाश्ते की सुविधा होती है। यह गाड़ी उन प्वाइंट पर पहुंचती है, जहां पर पुलिस जवान तैनात हैं।

ग्वालियर परिक्षेत्र में अपने नवाचारों के लिए खास पहचान रखने वाले राजा बाबू सिंह ने कोरोनावायरस के खिलाफ जारी लड़ाई में भी जवानों के जुनून को बरकरार रखने के लिए नवाचार किया है। उनका कहना है कि कोरोनावायरस को लेकर एक बात कही जा रही है कि यह वायरस गले में जाकर तीन दिन तक चिपका रहता है और अगर गर्म पानी, चाय-कॉफी आदि पी जाए, तो यह वायरस गले से नीचे चला जाता है।

उन्होंने कहा, इस बात को ध्यान में रखकर यह व्यवस्था की गई है। साथ ही पुलिस जवान को भी यह लगे कि उसका कोई ध्यान रखने वाला है इसलिए भी यह चलित वाहन शुरू किया गया है। इससे पुलिस जवान को खाने-पीने का सामान आसानी से सुलभ हो रहा है और जवान पूरी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी कर रहे हैं।

गौरतलब है कि ग्वालिय परिक्षेत्र के ग्वालियर और शिवपुरी में भी कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, इससे लॉकडाउन को और सख्त कर दिया गया है। जिससे पुलिस की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ गई है। पुलिस जवानों को मानसिक तनाव न हो, परिवार की चिंता न रहे, इसके लिए किया गया यह नवाचार पुलिस जवानों को बड़ी राहत देने वाला है।

--आईएएनएस

About Author

संदीप पौराणिक

लेखक देश की प्रमुख न्यूज़ एजेंसी IANS के मध्यप्रदेश के ब्यूरो चीफ हैं.

Related Articles

Comments

 

भाजपा की बंगाल की जनता से अपील, केंद्रीय योजनाओं का लाभ न मिलने पर दें मिस्ड कॉल

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive