Kharinews

महिला उद्यमिता संगोष्ठी : आप अपने काम के प्रति जिद्दी बनिए - रश्मि बंसल

Sep
15 2022

भोपाल : 15 सितम्बर/ रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा ’महिला उद्यमिताः संभावनाएं और चुनौतियां’ विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ हुआ। इस संगोष्ठी का आयोजन विश्वविद्यालय की महिला उद्यमिता सेल, वाणिज्य और प्रबंधन विभाग ने टाटा इंस्टिट्यूट आफ सोशल साइंसेस मुंबई (टीआईएसएस), सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमएसएमई) तथा कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। संगोष्ठी का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि सुश्री रश्मि बंसल, प्रसिद्ध लेखिका और महिला उद्यमी ने किया। इस मौके पर विषिष्ट अतिथि के रुप में डाॅ. पल्लवी राव चतुर्वेदी, महिला उद्यमी गेट सेट पैरेंट्स विथ पल्लवी, श्री प्रदीप करमबेलकर, उद्यमी, विजन एडवाइजरी सर्विस प्रा.लि., श्री अशोक कुमार, रीजनल बीडीएम लुकिंग आफ्टर एमपी, एपीडा दिल्ली, डाॅ. अर्चना सिंह, असिस्टेंट प्रोफेसर, टीआईएसएस, डाॅ. सिद्धार्थ चतुर्वेदी, प्रो-चांसलर आरएनटीयू, डाॅ. अदिति चतुर्वेद, निदेषक आईसेक्ट ग्रुप आॅफ यूनिवर्सिटीज, डाॅ. ब्रम्ह प्रकाष पेठिया, कुलपति आरएनटीयू, डाॅ. संगीता जौहरी, प्रतिकुलपति, डाॅ. नेहा माथुर, सीनियर प्रोफेसर फैकल्टी आफ मैनेजमेंट आरएनटीयू उपस्थित थे। इस संगोष्ठी का उद्देश्य महिला उद्यमिता को बढ़ावा देना है। देश के उद्यमिता के ईको सिस्टम में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस मौके पर डाॅ. किरण मिश्रा द्वारा एडिटेड वोमेन इंटरप्रेन्योरशिप एण्ड इम्पावरमेंट, डाॅ. पूजा चतुर्वेदी द्वारा एडिटेड ई-मार्केटिंग यूजिंग माॅडर्न टेक्नोलाजी, डाॅ. सिद्धार्थ चतुर्वेदी द्वारा एडिटेड स्किल डेवेलपमेंटः ऐन ओवरव्यू आफ इनिषिएटिव एण्ड स्कीम्स और संगोष्ठी की ई-प्रोसीडिंग बुक का विमोचन किया गया। 

इस मौके पर सुश्री रश्मि बंसल ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि वे मध्य प्रदेश के रतलाम जिले की बेटी हैं। उन्होंने बताया कि जब वे काॅलेज में पढ़ाई करतीं थीं तब मेरा सपना था कि देश की अग्रणी पत्रिका टाइम मैग्जीन में उनके आर्टिकल प्रकाशित हों। इसके लिए उन्होंने आर्टिकल लिख कर भेजना प्रारंभ किया और लगभग 40 आर्टिकल रिजेक्ट होने के बाद उन्हें मौका मिला टाइम मैग्जिन में प्रकाशित होने का। ये तभी संभव हुआ जब मैंने अपनी जिद को छोड़ा नहीं। कहीं भी एंट्री लेना आसान नहीं होता। आप अपने काम के प्रति जिद्दी बनिए। हर उद्यमी महिला अपने परिवार को साथ में लेकर चलना चाहती हैं। इसलिए उसका सपोर्ट आवष्यक होता है। युवा उद्यमियों को टिप्स दीं कि आप कभी भी असफलता से मत डरिए। पढ़ाई आपके डेवेलपमेंट के लिए होती है। आपको रुकना नहीं है। कल आप इस विश्वविद्यालय से पढ़ाई पूरी कर किसी बड़ी कंपनी में जाएंगे लेकिन आपकी जर्नी कभी रुकनी नहीं चाहिए लगातार आगे बढ़ने के लिए काम करते रहिए। युवाओं को उद्यमी बनने के लिए टिप्स देते हुए कहा कि आप आज पढ़ाई के साथ साथ यह सोचिए कि आप अगले तीन साल में कैसे अपनी पाॅकेट मनी कमा सकते हैं। और जब आप इसका स्वाद चख पाएंगे तब आपकी दुनिया बदल जाएगी।

इस अवसर डाॅ. पल्लवीराव चतुर्वेदी ने संबोधित करते हुए तीन महत्वपूर्ण टिप्स दिए, पहला उद्यमी बनने से पहले यह सोचें कि उद्यमी क्यंू बनना है। दूसरा जब तक आप ठान ना लेंगे तब तक सफलता मिलना मुश्किल होगा। उद्यमी बनने के लिए पहला कदम बढ़ाना आवश्यक होता है। आप अपने काम पर फोकस्ड रहें सफलता जरुर मिलेगी। आज वैश्विक स्तर पर सामाजिक समस्याओं के हल भी महिला उद्यमियों के द्वारा निकाले जा रहे हैं। उन्होंने अपनी जर्नी भी बताई। श्री प्रदीप करमबेलकर जी ने बताया कि ज्यादातर महिलाएं जब उद्यमी बनने के रास्ते पर चलती हैं तब वे अकेली ही

फाईट करती हैं। उनके परिवार को उनका सपोर्ट करना चाहिए। महिलाएं कम सुविधाओं में भी बेहतर कार्य करती हैं। महिलाओं में कमाल की विश्लेषण क्षमता होती है। महिलाएं सभी को साथ लेकर चलना जानती हैं। इनमें हम पुरुषों की अपेक्षा ईगो फैक्टर कम होता है। आज वूमेन इम्पावरमेंट को सबसे ज्यादा सपोर्ट टेक्नोलाॅजी ने किया है। श्री अषोक कुमार ने एपिडा द्वारा किये जा रहे कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। वहीं डाॅ. ब्रम्ह प्रकाष पेठिया ने संबोधित करते हुए कहा कि मार्केट पर फोकस करें कि कौन सा प्रोडक्ट उपलब्ध है। आप कस्टमर की जरुरत को समझें। उद्योग को प्रांरभ करने से पहले रिसर्च करना चाहिए।
इस मौके पर महिला उद्यमियों ने अपने उत्पादों की प्रदर्षनी भी लगाई है। मंच का संचालन जिनी जैकब, एचओडी फैकल्टी आॅफ मैनेजमेंट ने किया। कार्यक्रम के अंत में डाॅ. नेहा माथुर, सीनियर प्रोफेसर फैकल्टी आफ मैनेजमेंट ने सभी का आभार व्यक्त किया। संगोष्ठी में सहित देषभर से बड़ी संख्या में महिला उद्यमी और शिक्षाविद शामिल हुए।  

कल संगोष्ठी के समापन अवसर पर (दिनांक 16 सितंबर, 2022) बतौर मुख्य अतिथि श्रीमती स्मिता भारद्वाज, सचिव, मानवाधिकार आयोग, मध्यप्रदेष शासन उपस्थित रहेंगी। वहीं विषिष्ट अतिथि के रुप में डाॅ. पल्लवी राव चतुर्वेदी, महिला उद्यमी गेट सेट पैरेंट्स विथ पल्लवी, डाॅ. राजीव अग्रवाल, सीईओ अनन्या पैकेज प्रा.लि., प्रेसिडेंट एसोसिएषन आफ आल इंडस्ट्रीज मंडीदीप उपस्थित रहेंगे।

Related Articles

Comments

 

दिल्ली शराब नीति मामले में सीबीआई के नोटिस पर केसीआर की बेटी कविता का जवाब, 6 दिसंबर को मिल सकते हैं

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive