महिलाओं और युवाओं के सशक्तिकरण को बढ़ावा देने में संयुक्त राष्ट्र का समर्थन करता है चीन

0
30

बीजिंग, 17 मार्च (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने हाल ही में संघर्ष की रोकथाम और महिलाओं व युवाओं के सशक्तिकरण पर एक उच्च स्तरीय खुली बहस आयोजित की, जिसमें चीनी राज्य परिषद के महिला और बच्चे कार्य समिति की उपाध्यक्ष हुआंग श्याओवेइ ने कहा कि चीन महिलाओं और युवाओं के सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए और अधिक अन्वेषण और प्रयास करने में संयुक्त राष्ट्र का समर्थन करता है।

संयुक्त राष्ट्र महिला स्थान आयोग का 68वां सत्र न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में आयोजित किया जा रहा है। हुआंग श्याओवेइ चीनी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर इस में भाग ले रही हैं। अपने भाषण में उन्होंने कहा कि संघर्ष की रोकथाम, और अंतर्राष्ट्रीय शांति व सुरक्षा बनाए रखना महिलाओं और युवाओं की व्यापक भागीदारी से अविभाज्य है।

हुआंग ने कहा कि अशांत अंतर्राष्ट्रीय स्थिति का सामना करते हुए, महिलाओं और युवाओं के सशक्तिकरण को और अधिक समर्थन देना, उन्हें बदलती दुनिया के साथ बेहतर ढंग से निपटने में मदद करना और शांतिपूर्ण विकास के लिए उनकी बुद्धि और क्षमता को उजागर करना आवश्यक है। महिलाओं और युवाओं को शिक्षा और रोजगार के अवसर प्रदान करने से स्थिरता बनाए रखने, विकास को बढ़ावा देने, स्थाई शांति प्राप्त करने के लिए ठोस आधार बनाने में मदद मिलेगी।

हुआंग श्याओवेइ के मुताबिक, चीन हमेशा महिलाओं और युवाओं के सशक्तिकरण और विकास के लिए कट्टर समर्थक और सक्रिय कार्यकर्ता रहा है, और विधायी गारंटी एवं नीतिगत उपायों के माध्यम से आर्थिक व सामाजिक विकास के फल को पूरी तरह से साझा करने में महिलाओं का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है। चीन ने 4.4 करोड़ से अधिक ग्रामीण महिलाओं को पूर्ण गरीबी से बचने में मदद की है।

हुआंग ने परिचय देते हुए कहा कि वर्तमान में चीन में नौकरीपेशा लोगों में 40 प्रतिशत से अधिक महिलाएं हैं, वैज्ञानिक और तकनीकी कर्मचारियों में 45.8 प्रतिशत महिलाएं हैं, डिजिटल व्यापार, ई-कॉमर्स और लाइव प्रसारण जैसे नए व्यवसायों में लगभग एक-तिहाई हिस्सेदारी महिलाओं की है।

युवाओं के क्षेत्र में हुआंग ने बताया कि चीन युवा कार्यों को बहुत महत्व देता है, युवा विकास को व्यापक रूप से बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय स्तर की विशेष योजनाएं बनाता और लागू करता है, और शिक्षा, रोजगार आदि क्षेत्रों में 240 से अधिक युवा विकास नीतियां पेश की हैं। देश में 187 से अधिक शहर युवा विकासोन्मुख शहर का सक्रिय रूप से अन्वेषण और निर्माण करते हैं। वर्तमान में अधिक से अधिक युवा लोग वैज्ञानिक और तकनीकी नवाचार, ग्रामीण पुनरोद्धार और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में मुख्य शक्ति बन रहे हैं।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)