राहुल के हिंदू विरोधी बयान के पीछे विदेशी ताकतों का हाथ: सतीश पूनिया

0
10

बाड़मेर, 7 जुलाई (आईएएनएस)। एक दिवसीय दौरे पर रविवार को बाड़मेर पहुंचे भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने पार्टी कार्यकर्ताओं और संगठन के पदाधिकारियों से मुलाकात की।

सर्किट हाउस में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में सतीश पूनिया ने मीडिया से रूबरू होते हुए नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी पर करारा हमला बोला।

पूनिया ने संसद में नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी के दिए बयान पर तंज कसा। उन्होंने कहा, ” लोकतंत्र के साथ-साथ राजनीतिक पार्टियां परिपक्व हो गई हैं लेकिन इस चीज का कोई पैमाना नहीं है कि नेता परिपक्व हो गए हैं या नहीं। अभी भी नेता परिपक्व नहीं है राहुल गांधी उनमें से एक हैं। उनकी गाड़ी पटरी पर दौड़ते- दौड़ते कब पटरी से उतर जाए पता ही नहीं चलता। ऐसा ही उनके भाषण में दिखा। पूरे हिंदू समाज को हिंसक कहना किसी परिपक्व नेता की पहचान नहीं है, उनके इस बयान के बाद लगता है वो चीन और विदेशी ताकतों से फोन पर संपर्क में है। इसके पीछे विदेशी ताकतें हो सकती हैं।”

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया की भाजपा में अनदेखी को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में भाजपा नेता ने कहा, ” अनदेखी की परिभाषा क्या है, वो मुझे नही पता। उनको (वसुंधरा राजे) लेकर यह जरूर कहना चाहूंगा कि पार्टी ने उन्हें अटल बिहारी बाजपेई सरकार में केंद्र में मंत्री पद की जिम्मेदारी और दो बार प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया। वो कई बार संसद और विधानसभा की सदस्य रही हैं। वह पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष है। इतने लाखों करोड़ों लोगों में उनका शुमार होना यह कोई कम सम्मान नहीं है। यह सब बातें मायने नहीं रखती हैं, जब हमने पार्टी को अपना लिया तो कश्मीर से कन्याकुमारी और कच्छ से कामरूप तक पार्टी की ओर से जो भूमिका दी जाएगी, वो स्वीकार होगा।”

प्रदेश की भजनलाल सरकार में मंत्री किरोड़ी लाल मीणा के इस्तीफे को लेकर भी प्रश्न पूछा गया। इस पर सतीश पूनिया ने कहा कि इस्तीफा देने को लेकर उन्होंने अभी तक कोई कारण नहीं बताया है। ऐसे में इस पर किसी प्रकार की टिप्पणी करना मैं सही नहीं मानता हूं। यह मामला पार्टी के प्रदेश से लेकर शीर्ष नेतृत्व के ध्यान में है वही इस पर निर्णय करेंगे।