लोकसभा में पीएम मोदी बोले, ‘सेना में भर्ती को लेकर सरासर फैलाया जा रहा है झूठ’

0
13

नई दिल्ली, 2 जुलाई (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के अग्निवीर को शहीद का दर्जा नहीं देने वाले बयान पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सेना में भर्ती को लेकर सरासर झूठ फैलाया जा रहा है, ताकि मेरे देश के नौजवान सेना में न जाएं।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कौन नहीं जानता कि नेहरू जी के समय देश की सेनाएं कितनी कमजोर थी। कांग्रेस ने लाखों-करोड़ों के घोटाले करके देश की सेनाओं को कमजोर किया है। इन्होंने देश आजाद हुआ तब से भ्रष्टाचार की परंपरा बनाई। जीप घोटाला, पनडुब्बी घोटाला, बोफोर्स घोटाला हो, इन सारे घोटालों ने सेना की ताकत को बढ़ने से रोका है। वह भी एक वक्त था, जब कांग्रेस के जमाने में हमारी सेनाओं के पास बुलेटप्रूफ जैकेट भी नहीं होती थी।

उन्होंने कहा कि सत्ता में रहते हुए सेना को कमजोर किया ही किया, विपक्ष में जाने के बाद भी सेना को कमजोर करने के लगातार प्रयास होते रहे। जब कांग्रेस सरकार में थी, फाइटर जेट नहीं लिए और जब हमने कोशिश की तो कांग्रेस हर तरह की साजिश पर उतर आई। फाइटर जेट एयरफोर्स तक न पहुंच पाए, इसके लिए हर तरह की साजिश की गई।

पीएम मोदी ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि बालक बुद्धि देखिए, राफेल के छोटे-छोटे खिलौने बनाकर उड़ाते थे, सेनाओं का मजाक उड़ाते थे। कांग्रेस ऐसे हर रिफॉर्म का विरोध करती है, जो सेना को मजबूती दे। अब कांग्रेस को ये पता चल चुका है कि नौजवानों की ऊर्जा ही सेना की सबसे बड़ी शक्ति है। सेना में भर्ती को लेकर सरासर झूठ फैलाया जा रहा है, ताकि मेरे देश के नौजवान सेना में न जाएं। मैं सदन के माध्यम से जानना चाहता हूं कि आखिर किसके लिए कांग्रेस हमारी सेनाओं को कमजोर करना चाहती है, किसके फायदे के लिए कांग्रेस वाले सेना के संबंध में इतना झूठ फैला रहे हैं?

पीएम मोदी ने कहा कि मैं आज एक गंभीर विषय पर देशवासियों का ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं। कल जो हुआ, उसे इस देश के कोटि-कोटि देशवासी आने वाली सदियों तक माफ नहीं करेंगे। 131 साल पहले स्वामी विवेकानंद ने शिकागो में कहा था कि मुझे गर्व है कि मैं उस धर्म से आता हूं, जिसने पूरी दुनिया को सहिष्णुता और वैश्विक स्वीकृति सिखाई है। 131 साल पहले ये स्वामी विवेकानंद ने दुनिया के दिग्गजों के सामने कहा था। आज हिंदुओं पर झूठा आरोप लगाने की साजिश हो रही है, गंभीर षड्यंत्र हो रहा है। ये कहा गया कि हिंदू हिंसक होते हैं, ये हैं आपके संस्कार, ये है आपका चरित्र, ये है आपकी सोच, ये है आपकी नफरत। ये देश शताब्दियों तक इसे भूलने वाला नहीं है।

उन्होंने कहा कि हिंदुओं में शक्ति की कल्पना है, उसके विनाश की घोषणा की गई थी। आप किसी शक्ति के विनाश की बात कर रहे हैं, ये देश सदियों से शक्तियों का उपासक है। बंगाल के लोग मां दुर्गा की पूजा करते हैं, बंगाल मां काली की उपासना करता है। आप उस शक्ति के विनाश की बात करते हो। ये वो लोग हैं, जिन्होंने हिंदू आतंकवाद शब्द गढ़ने की कोशिश की थी।0

उन्होंने कहा कि इनके साथी हिंदू धर्म की तुलना डेंगू, मलेरिया ऐसे शब्दों से करें, ये देश कभी माफ नहीं करेगा। एक सोची-समझी साजिश के तहत इनके पूरे इकोसिस्टम ने हिंदू परंपरा को नीचा दिखाने, अपमानित करने और मजाक उड़ाने का फैशन बना दिया है। देश का हर बच्चा जानता है कि ईश्वर का हर रूप दर्शन के लिए होता है, ईश्वर का कोई भी रूप निजी स्वार्थ के प्रदर्शन के लिए नहीं होता है। हमारे देवी-देवताओं का अपमान 140 करोड़ देशवासियों के हृदय को गहरी चोट पहुंचा रहा है।