संसद में गूंजेगा नीट परीक्षा का मामला, विपक्ष ने की सीबीआई जांच की मांग

0
14

नई दिल्ली, 13 जून (आईएएनएस)। नीट परीक्षा का मामला अब संसद के भीतर उठाया जाएगा। विपक्ष ने घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा है कि नीट परीक्षा की गूंज संसद के भीतर गूंजेगी। कांग्रेस ने गुरुवार को इसका ऐलान किया।

कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने गुरुवार को आरोप लगाया कि नीट परीक्षा का पेपर लीक हुआ। मामले की सीबीआई जांच करवाई जाए। अगर सरकार सीबीआई जांच के लिए तैयार नहीं है तो सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में इस पूरे मामले की जांच हो।

गौरतलब है कि देशभर के 24 लाख छात्रों ने नीट के लिए आवेदन किया था। गौरव गोगोई ने कहा कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के नेतृत्व में यह पूरा स्कैम हुआ है और अब एनटीए को ही जांच करने के लिए कहा गया है। ऐसे में निष्पक्ष जांच की अपेक्षा कैसे की जा सकती है।

कांग्रेस ने कहा कि नीट परीक्षा में जिन 1563 छात्रों को अतिरिक्त अंक प्रदान किए गए, उन सभी को अब दोबारा परीक्षा देनी होगी। इन छात्रों के लिए 23 जून को परीक्षा होगी। ऐसे छात्र जो दोबारा परीक्षा नहीं देना चाहते, उनके अतिरिक्त स्कोर (ग्रेस मार्क्स) को रद्द किया जाएगा। ग्रेस मार्क्स हटाने के बाद जो इन छात्रों का स्कोर होगा, वहीं अंतिम स्कोर माना जाएगा।

गोगोई ने कहा कि इस परीक्षा की सीबीआई जांच की मांग पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री चुप हैं। जिस (एनटीए) एजेंसी के नेतृत्व में यह पूरा घोटाला हुआ उसी को जांच करने की जिम्मेदारी दे दी गई। देशभर में लाखों छात्र एक परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए इतना बलिदान करते हैं। लेकिन आज देश में कोचिंग सेंटर और एग्जाम सेंटर की एक मिलीभगत है।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रश्न जानने के लिए लाखों रुपए मांगे जाते हैं, क्या एनटीए इसकी जांच कर पाएगा। अगर एग्जाम सेंटर, कोचिंग सेंटर को किसी सुराग से प्रश्न पत्र मिला है तो इसमें जरूर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी का कोई अधिकारी शामिल है। ऐसे में कैसे नेशनल टेस्टिंग एजेंसी इस पूरे प्रकरण की जांच कर सकती है।

गोगोई ने कहा कि आज 24 लाख छात्रों ने जो नीट परीक्षा दी, उसमें घोटाले का आरोप लगा है। ऐसे में प्रधानमंत्री क्यों नहीं इस परीक्षा पर चर्चा कर रहे हैं। यदि केंद्र सरकार सीबीआई जांच की मांग नहीं मानती है तो सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में इस मामले की जांच करवाई जाए।

उन्होंने कहा कि कई छात्रों ने नीट में एक साथ टॉप किया है। कई छात्रों को नंबर बड़े अजीब तरीके से दिए गए हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी का जो फार्मूला है, उसके तहत ऐसे मार्क्स आ ही नहीं सकते।

गोगोई ने कहा कि छात्रों में इस विषय को लेकर हताशा है, निराशा है। उन्होंने कहा कि विपक्ष का यही काम है कि जब-जब सरकार अपनी जिम्मेदारी से भागती है तो इंडिया गठबंधन उनको अपना राजधर्म भूलने नहीं देगा।