हरारे में आसानी से नहीं हारता जिम्बाब्वे, टीम इंडिया को दी है कई बार मात

0
12

हरारे, 7 जुलाई (आईएएनएस)। भारतीय क्रिकेट टीम को जिम्बाब्वे ने हरारे स्पोर्ट्स क्लब में पांच मैचों की टी20 सीरीज के पहले मुकाबले में 13 रनों से मात दी है। भारत के लिए हरारे का यह मैदान बहुत अच्छा नहीं रहा है क्योंकि जिम्बाब्वे ने अभी तक भारत को यहां तीन बार टी20 मैचों में हराया है। जिम्बाब्वे ने भारत के खिलाफ 9 टी20 मैचों में अपनी सभी जीत हरारे पर ही हासिल की हैं।

टी20 प्रारूप में भारत के खिलाफ जिम्बाब्वे की पहली जीत हरारे में जुलाई 2015 में आई थी, तब मेजबान टीम ने 10 रन की जीत हासिल करके दो मैचों की सीरीज को एक-एक से बराबर कर दिया था। इसके बाद जिम्बाब्वे ने दूसरी बार भारत को इसी मैदान पर जून 2016 में हराया था। यह तीन मैचों की टी20 सीरीज का पहला मैच था जहां मेजबान टीम को दो रनों से जीत हासिल हुई थी। जिम्बाब्वे की टीम को तीसरी जीत जुलाई 2024 में 5 मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में मिली है।

खास बात ये है कि इन तीनों ही मुकाबलों में जिम्बाब्वे की टीम ने पहले बल्लेबाजी की थी। इस मैदान पर दोनों टीमों के बीच अब तक 8 मुकाबले हो चुके हैं जिसमें पांच मैच भारत ने भी जीतने में कामयाबी हासिल की है। ध्यान देने वाली बात है कि पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत इस मैदान पर केवल 2 ही मैच जीत पाया है। पहले गेंदबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 3 मैच जीते हैं।

दिलचस्प तथ्य ये भी है कि इस मैदान पर पहले बैटिंग करने वाली टीम 57.1 प्रतिशत बार मैच जीतने में कामयाब हुई है। इसमें कोई शक नहीं कि हरारे जिम्बाब्वे टीम का एक अहम मैदान है जहां वे घरेलू परिस्थितियों का फायदा बखूबी उठाते आए हैं। यहां पहले बैटिंग करने वाली टीम का औसत स्कोर 155.14 रहा है, जबकि दूसरी बार बैटिंग करते हुए 138.62 का औसत स्कोर बनता है।

हरारे में भारत और जिम्बाब्वे के बीच हुए मुकाबलों में मेजबान टीम का सर्वोच्च स्कोर 3 विकेट के नुकसान पर 205 रहा है तो वहीं भारत का सर्वोच्च स्कोर 5 विकेट के नुकसान पर 178 रन रहा है। ऐसे में भारतीय टीम आसानी से इस मैदान पर जीत की उम्मीद तब तक नहीं कर सकती जब तक कि वे यहां पर खेलने के लिए खुद को अभ्यस्त ना कर लें। मौजूदा टी20 सीरीज के सभी मुकाबले हरारे स्पोर्ट्स क्लब में ही खेले जाने हैं।

पहला मैच हारने के बाद शुभमन गिल एंड कंपनी रविवार को होने वाले दूसरे मैच के जरिए किसी भी हाल में वापसी करना चाहेगी। पहले मैच के बाद ये उम्मीद की जा सकती है कि खिलाड़ी अपने गलतियों से सबक लेकर अपनी क्षमता के अनुरूप खेलेंगे।