हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले इनेलो और बसपा के बीच हुआ गठबंधन

0
10

चंडीगढ़, 11 जुलाई (आईएएनएस)। हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले इनेलो और बसपा के बीच गुरुवार को गठबंधन हो गया। दोनों ही पार्टियों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर भी समझौता हुआ। इनेलो ने 53 और बसपा ने 37 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। दोनों पार्टियों ने चंडीगढ़ में संयुक्त प्रेस कॉफ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।

बसपा के राष्ट्रीय संयोजक आकाश आनंद ने कहा, “सरकार बनने पर अभय चौटाला को सीएम पद की कमान सौंपी जाएगी। इनेलो और बसपा का गठबंधन महज विधानसभा चुनाव तक ही सीमित नहीं रहेगा, बल्कि अन्य छोटे-बड़े चुनावों में भी यह गठबंधन बना रहेगा। 6 जुलाई को अभय चौटाला और मायावती के बीच सीट बंटवारे पर विस्तार से चर्चा हुई थी।”

इस दौरान आकाश आनंद ने प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर भी अपनी राय रखी। उन्होंने कहा, “राज्य में कानून-व्यवस्था बिगड़ रही है और अपराधियों को सरकार का संरक्षण प्राप्त हो रहा है। इससे पहले, प्रदेश में कानून-व्यवस्था कभी इतनी खराब रही। बीजेपी के कुशासन की वजह से प्रदेश के युवा नशे की गिरफ्त में आ रहे हैं।”

वहीं, अभय चौटाला ने उन वायदों का जिक्र किया जो सत्ता में आने पर उनकी सरकार देगी। उन्होंने कहा, “हम दोनों पार्टियों ने मिलकर न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाया है। अगर हरियाणा में हमारी सरकार बनी, तो स्नातक तक बच्चों को सरकारी से लेकर निजी विश्वविद्यालय में मुफ्त में शिक्षा प्रदान की जाएगी, बुजुर्गों को प्रतिमाह 75,00 रुपए पेंशन भी देंगे। इसके अलावा, लोगों को मुफ्त पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। इतना ही नहीं हम एक ऐसा सिस्टम बनाएंगे, जिससे बिजली के बिल के दाम 500 रुपए से ज्यादा ना आएं, जिससे लोगों पर आर्थिक बोझ ना बढ़े। हर गृहणी को हर महीने मुफ्त में एक सिलेंडर दिया जाएगा।”

उन्होंने आगे कहा, “यह गठबंधन स्वार्थ पर आधारित नहीं है, बल्कि लोगों की भावनाओं पर आधारित है। हमारी सोच यही है कि कैसे समाज के गरीब तबके के लोगों को सशक्त किया जाए और युवाओं को रोजगार मिले।“