हिंदू विरोधी बयान पर काशी में राहुल गांधी का फूंका पुतला

0
17

वाराणसी, 1 जुलाई (आईएएनएस)। सदन में राहुल गांधी द्वारा हिंदुओं को हिंसक बताने पर पूरे देश में विरोध हो रहा है, तो वही धर्म की नगरी काशी में राहुल गांधी का पुतला जलाकर विरोध किया गया और उनकी सदस्यता रद्द करने की मांग की गई।

राहुल के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए नरेंद्र मोदी विचार मंच की ओर से राहुल गांधी का पुतला फूंका गया और उनसे माफी मांगने को कहा गया। इस दौरान ये भी कहा गया कि अगर राहुल गांधी दोबारा ऐसी गलती करते हैं, तो उनको सदन से निष्कासित किया जाना चाहिए। इस दौरान ‘राहुल गांधी होश में आओ, राहुल गांधी मुर्दाबाद’ के नारे भी लगाए गए।

राहुल के बयान पर मौलाना शहाबुद्दीन रिजवी ने विरोध जताया है। उन्होंने कहा, “किसी पर बयान देना या किसी पर इल्जाम लगाना बहुत आसान काम है। अल्पसंख्यक या मुसलमान यहां पर सुरक्षित हैं। मुसलमानों पर असुरक्षा का इल्जाम लगाना ज्यादती होगी। ऐसे ही हिंदुस्तान के बहुसंख्यक तबके पर आतंकवाद का इल्जाम लगाना, या दहशतगर्द कहना किसी भी समुदाय को दोष देना सरासर गलत है और भ्रमित करनेे वाली बात है। किसी भी समुदाय पर आतंकवाद का इल्जाम नहीं लगाया जा सकता।”

उन्होंने आगे कहा, “आतंकवाद एक बीमारी है, जिसका इलाज तो किया जा सकता है लेकिन हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई पर आतंकवाद का टैग लगाना, बिल्कुल गलत बात है। जो लोग भड़काने वाली बातें करते हैं, वो लोग सिर्फ और सिर्फ सियासत करते हैं। उनको समाज और देश के हित से कोई मतलब नहीं होता है।”