Kharinews

सायनाइड किलर्स : केरल डीजीपी ने कहा, हत्या केवल एक परिवार तक सीमित नहीं

Oct
06 2019

तिरुवनंतपुरम, 6 अक्टूबर (आईएएनएस)| जासूसी फिल्मों में सायनाइड को एक घातक जहर के रूप में दिखाया जाता है, लेकिन केरल में सिलसिलेवार हत्याओं में शामिल एक युगल ने वास्तव में इस खतरनाक रसायन का प्रयोग 14 वर्षो के दौरान छह सदस्यों वाले परिवार का पूरी तरह सफाया करने में किया। अत्यधिक जहरीले रंगहीन नमक जैसी चीज पोटेशियम सायनाइड को कथित रूप से जॉली थॉमस और उसके दो सहयोगियों द्वारा कोझिकोड में एक परिवार को समाप्त करने के लिए प्रयोग में लाया गया।

केरल के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) लोकनाथ बेहरा ने संदेह जताते हुए कहा कि हो सकता है कि जॉली (अब 47) द्वारा सुनियोजित तरीके से कोझिकोड में केवल एक ही परिवार का सफाया नहीं किया गया हो।

बेहरा ने आईएएनएस से कहा, "जॉली और उसके सहयोगियों द्वारा किए गए अपराध के पूरे परिप्रेक्ष्य पर टिप्पणी करना अभी बहुत जल्दबाजी होगी। हालांकि यह जांच के लिए काफी पेचीदा मामला है लेकिन मैं उनके द्वारा और हत्याओं की संभावनाओं से इनकार नहीं कर सकता।"

उन्होंने कहा, "हम जॉली के आपराधिक प्रोफाइल का पता लगाने के लिए उसके पूर्व संबंधों और कुछ सबूतों का पता लगा रहे हैं। इस समय जघन्य हत्याओं के पीछे वास्तविक तस्वीर बहुत हद तक साफ नहीं है। मैं केवल यही कह सकता हूं कि पुलिस ने हत्याओं का पर्दाफाश करने के लिए अच्छा काम किया है, जिसका शायद कभी पता नहीं चल पाता।"

अबतक कोझिकोड पुलिस ने जॉली और उसके दोस्त एम.मैथ्यू और एक आभूषण कर्मचारी को गिरफ्तार किया है, जो हत्याओं के लिए सायनाइड की व्यवस्था करता था।

जांच से पता चला है कि जॉली पीड़ितों को खाने में सायनाइड मिलाकर देती थी। सायनाइड की वजह से ऐसी पहली कथित मौत 2002 में उसकी सास अनम्मा थॉमस की हुई थी।

छह वर्ष बाद 2008 में, जॉली ने कथित रूप से अपने ससुर टॉम थॉमस की हत्या कर दी और 2011 में जॉली ने अपने पति रॉय थॉमस की हत्या कर दी थी।

थॉमस परिवार में हत्याओं का दौर यहीं नहीं थमा। 2014 में ऐसी ही परिस्थितियों में रॉय थॉमस के मामा मैथ्यू की मौत हो गई। दो वर्ष बाद एक और करीबी रिश्तेदार सिली और उसके एक वर्षीय बच्चे की समान परिस्थतियों में मौत हो गई। सिली, शाजू (जॉली के प्रेमी) की पत्नी थी।

पुलिस जांच से पता चला कि सभी पीड़ितों की मौत खाना खाने के बाद हुई। जॉली के अलावा घर में सभी की मौत से उसके ऊपर शक की सुई गई।

सूत्रों ने बताया कि लंबी पूछताछ के बाद जॉली ने आखिरकार अपना गुनाह कबूल कर दिया। जहां तक घटना के उद्देश्य का सवाल है, जॉली, शाजू से शादी करना चाहती थी और उनकी नजरें थॉमस परिवार की संपत्ति पर थीं।

Category
Share

Related Articles

Comments

 

जूनियर हॉकी : जोहोर कप में जापान से 3-4 से हारा भारत

Read Full Article
0

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive