त्रिपुरा सीएम ने बीएसएफ को सीमा पर चौकसी बढ़ाने के दिए निर्देश

0
7

अगरतला, 5 जुलाई (आईएएनएस)। बांग्लादेश से त्रिपुरा में बढ़ती घुसपैठ के बीच मुख्यमंत्री माणिक साहा ने बीएसएफ से 856 किमी लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर चौकसी बढ़ाने को कहा है।

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के एक अधिकारी ने बताया कि सीएम माणिक साहा ने गुरुवार रात बीएसएफ के टॉप अधिकारियों के साथ बैठक की। सीएम ने उन्हें सीमा पर कड़ी निगरानी रखने और भारतीय क्षेत्र में बांग्लादेशी नागरिकों की घुसपैठ रोकने के लिए उचित कदम उठाने को कहा।

अधिकारी ने बताया कि सीएम ने हाल ही में भारतीय क्षेत्र में बांग्लादेशी नागरिकों की घुसपैठ में बढ़ोतरी पर चिंता जताई थी। सीएम ने संबंधित अधिकारियों को शरण देने और अवैध रूप से सीमा पार करने में मदद करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया।

बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि बैठक में मौजूद बीएसएफ के उपमहानिरीक्षक एसके सिन्हा ने कहा कि हाल में हुए लोकसभा चुनाव और संघर्ष प्रभावित मणिपुर में बीएसएफ जवानों की तैनाती के कारण सीमा पर जवानों की मौजूदगी प्रभावित हुई है।

उन्होंने तसल्ली (दिलासा दिया) दी कि सभी एजेंसियों के साथ मिलकर किये गये प्रयासों से पॉजिटिव परिणाम मिलेंगे।

बीएसएफ के प्रवक्ता ने कहा, “दलालों की पहचान करके उनके खिलाफ कार्रवाई करने से घुसपैठ की घटनाओं में कमी आएगी। एसके सिन्हा ने यह भी बताया कि बीएसएफ सीमा पर निगरानी के लिए संवेदनशील इलाकों में इलेक्ट्रॉनिक गैजेट लगाने की प्रक्रिया में है। बैठक के दौरान कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा की गई।”

बैठक में त्रिपुरा के मुख्य सचिव जेके सिन्हा, लॉ एंड ऑर्डर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनुराग और अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

बीते दो महीनों के दौरान बिना किसी वैध यात्रा दस्तावेज के भारत में प्रवेश करने पर महिलाओं और बच्चों समेत करीब 100 बांग्लादेशी नागरिकों को अगरतला रेलवे स्टेशन पर गिरफ्तार किया गया।

बांग्लादेशी नागरिकों ने सुरक्षाकर्मियों को बताया कि वे नौकरी की तलाश में ट्रेन से दिल्ली या भारत के अन्य शहरों में जाने के लिए अवैध रूप से त्रिपुरा आए थे।

बता दें कि हाल के दिनों में बांग्लादेश से अवैध रूप से त्रिपुरा में प्रवेश करने वाले रोहिंग्याओं को अगरतला रेलवे स्टेशन और त्रिपुरा के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में गिरफ्तार किया गया था।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने हाल ही में त्रिपुरा में कई लोगों को गिरफ्तार किया है। इन्हें राज्य के माध्यम से भारतीय क्षेत्र में बांग्लादेशी और रोहिंग्याओं की मानव तस्करी में शामिल होने के लिए गुवाहाटी में दर्ज मामले के संबंध में गिरफ्तार किया गया।

बीएसएफ ने इस साल की शुरुआत में एक रिपोर्ट में कहा था कि उन्होंने 2023 में अंतरराष्ट्रीय सीमा को अवैध रूप से पार करने वाले 744 लोगों को गिरफ्तार किया था। इसमें 112 रोहिंग्या और 337 बांग्लादेशी नागरिक शामिल हैं।

साल 2022 में बीएसएफ ने 59 रोहिंग्या और 150 बांग्लादेशी नागरिकों समेत 369 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया था।