क्या राहुल अपने पिता का समर्थन करेंगे या एससी के फैसले का सम्मान : कर्नाटक भाजपा

0
5

बेंगलुरु, 11 जुलाई (आईएएनएस)। कर्नाटक भाजपा ने गुरुवार को पूछा कि क्या राहुल गांधी अपने पिता दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी के रुख का समर्थन करेंगे या मुस्लिम महिला भरण-पोषण मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करेंगे?

भाजपा की राज्य महिला मोर्चा की अध्यक्ष सी. मंजुला ने कहा, “हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का तहे दिल से स्वागत करते हैं। लेकिन विपक्ष के नेता राहुल गांधी का क्या? क्या वह अपने पिता के रुख का समर्थन करेंगे या सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करेंगे?”

सी. मंजुला ने कहा कि 1985 में जब कांग्रेस बहुमत में थी तो उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा मुस्लिम महिलाओं को दिए गए न्याय और सम्मान की अवहेलना की थी।

उन्होंने कहा, “आज कांग्रेस सत्ता में नहीं है। ट्रिपल तलाक को खत्म करने वाली भाजपा सरकार फिर से इन महिलाओं के पक्ष में खड़ी होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में महिलाएं अब ज्यादा सुरक्षित महसूस करती हैं।”

सी. मंजुला ने आगे कहा कि 1985 में सुप्रीम कोर्ट ने सीआरपीसी 125 के तहत फैसला सुनाया था कि अपने पतियों से तलाकशुदा मुस्लिम महिलाएं भरण-पोषण पाने की हकदार हैं। हालांकि, दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने संसद में इसका विरोध किया था, मुस्लिम पर्सनल लॉ का समर्थन किया और सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदल दिया था।

उन्होंने कहा कि ऐसा करके उन्होंने संविधान के सिद्धांतों की अवहेलना की। कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट के महिला-समर्थक रुख के खिलाफ खड़ी है।