Kharinews

जेवर एयरपोर्ट यूपी के ताज में नगीना

Sep
27 2022

लखनऊ, 27 सितंबर (आईएएनएस)। गौतम बुद्धनगर के जेवर स्थित नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा राज्य की अर्थव्यवस्था को विकास के संदर्भ में बदलने के लिए तैयार है। अब इसे यूपी के ताज में नगीना के रूप में जाना जाता है।

यह भविष्य में प्रतिवर्ष 6 करोड़ यात्रियों को संभालने के लिए चार चरण के मास्टर प्लान के साथ ग्रेटर नोएडा के दक्षिण में फ्लुघफेन ज्यूरिख एजी (ज्यूरिख एयरपोर्ट) द्वारा विकसित किया जा रहा है।

परियोजना के अंतिम चरण में 2 रनवे की कल्पना की गई है, जिसे बाद में छह रनवे और 4 टर्मिनल तक विस्तारित किया जाएगा, जिससे यह भारत का सबसे बड़ा हवाईअड्डा बन जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 नवंबर, 2021 को इस हवाईअड्डे की नींव रखी थी और कहा जाता है कि यह परियोजना 2024 तक पूरी हो जाएगी।

उत्तर प्रदेश सरकार और जर्मनी के ज्यूरिख हवाईअड्डे ने 7 अक्टूबर, 2020 को 40 साल के रियायत समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसके बाद नवंबर 2019 में वित्तीय बोलियों को खोले जाने पर अदाणी एंटरप्राइजेज, डायल और एंकोरेज इंफ्रा (फेयरफैक्स) को हराकर प्रति यात्री 400.97 रुपये की उच्चतम बोली लगाई गई।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिसंबर 2020 में नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के हवाईअड्डे के डिजाइन, नाम और लोगो को मंजूरी दी।

ब्रांड के लोगो में यूपी के राज्यपक्षी सारस क्रेन को उड़ता हुआ दिखाया गया है।

परियोजना की साइट दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (आईजीआई) हवाईअड्डे से लगभग 70 किमी दूर गौतम बुद्ध नगर में यमुना एक्सप्रेसवे के पूर्व में स्थित है।

आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, हवाईअड्डे को नई मेट्रो लाइन के माध्यम से ग्रेटर नोएडा से जोड़ा जाएगा और 886 किलोमीटर दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल (बुलेट ट्रेन) परियोजना पर एक स्टेशन होगा।

इसके अलावा, एनएचएआई द्वारा एयरपोर्ट को निर्माणाधीन 1350 किमी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से जोड़ने वाली 31 किमी सड़क का निर्माण किया जाएगा।

परियोजना के दूसरे चरण के लिए भूमि अधिग्रहण जनवरी 2021 में शुरू हुआ। प्रारंभिक भू-तकनीकी और भूजल सर्वेक्षण सेंगर्स जियोटेक्निका द्वारा किया गया था। इस समय साइट मिट्टी को समतल किया जा रहा है।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन भी नॉलेज पार्क 2 और जेवर हवाईअड्डे को जोड़ने वाली एक नई मेट्रो लाइन की तैयारी कर रहा है।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Category
Share

Related Articles

Comments

 

चीन-लाओस रेलवे ने एक प्रभावशाली रिपोर्ट कार्ड सौंपा : चीनी विदेश मंत्रालय

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive