Kharinews

टूरिस्ट वीजा लेकर धर्म का प्रचार करने में फंसी तब्लीगी जमात, गृहमंत्रालय हुआ सख्त

Mar
31 2020

नई दिल्ली, 31 मार्च(आईएएनएस)। 24 कार्यकर्ताओं के कोरोना वायरस की चपेट में आने के कारण सुर्खियों में आए तब्लीगी जमात की मुसीबतें बढ़ने वाली हैं। वीजा नियमों के उल्लंघन पर तब्लीगी जमात के कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की कवायद चल रही है। गृह मंत्रालय ने विदेशों से आकर देशभर में फैले इन कार्यकर्ताओं के वीजा की जांच के लिए राज्यों की पुलिस को निर्देश दिए हैं।

गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि अमूमन भारत आने वाले तब्लीगी जमात से जुड़े सभी विदेशी नागरिक पर्यटन वीजा पर आते हैं। भारत में टूरिस्ट वीजा लेकर आने वाले व्यक्ति के मिशनरी कार्यों में शामिल होने पर पूरी तरह रोक है। इस सिलसिले में गृह मंत्रालय पूर्व में स्पष्ट आदेश जारी कर चुका है। पूर्व में जारी दिशा-निर्देश के अनुसार जमात के इन विदेशी कार्यकर्ताओं को पर्यटन वीजा पर मिशनरी के काम में शामिल नहीं होना चाहिए।

गृह मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि इस संबंध में सभी राज्यों की पुलिस विदेशी जमात कार्यकर्ताओं के वीजा की श्रेणियों की जांच करेगी और वीजा शर्तों के उल्लंघन के मामले में आगे की कार्रवाई करेगी।

गृह मंत्रालय ने तेलंगाना में कोविड 19 पॉजिटिव मामलों के सामने आते ही 21 मार्च को सभी राज्यों के साथ भारत में जमात कार्यकर्ताओं की सूची साझा की थी। इस संबंध में गृह मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और डीजीपी के साथ-साथ सीपी, दिल्ली को भी निर्देश जारी किए गए थे।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीग जमात के कोरोना संक्रमित कार्यकर्ताओं के खुलासे के बाद से अब तक जमात के 1339 कार्यकर्ताओं को नरेला, सुल्तानपुरी और बक्करवाला क्वारंटीन केंद्र व अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

गृह मंत्रालय ने कहा है कि दिल्ली के निजामुद्दीन के मरकज में रहने वाले जमात कार्यकर्ताओं को भी राज्य के अधिकारियों और पुलिस ने मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए अनुरोध किया था।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात मुख्यालय (मरकज) स्थित है। यहां धार्मिक कार्यों के सिलसिले में देश और विदेश से मुस्लिम आते हैं। कुछ लोग तब्लीगी गतिविधियों के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में समूहों में भी जाते हैं। यह सिलसिला पूरे वर्ष तक चलता है।

गृह मंत्रालय की सूचना के मुताबिक, 21 मार्च को मिशनरी काम के लिए लगभग 824 विदेशी तब्लीग जमात कार्यकर्ता देश के विभिन्न हिस्सों में थे। वहीं, लगभग 216 विदेशी और 15 सौ से अधिक भारतीय जमात कार्यकर्ता मरकज में रह रहे थे। मरकज में शामिल होने वाले छह लोगों की सोमवार को तेलंगाना में कोरोना वायरस से मौत होने के बाद जांच एजेंसियों ने तब्लीग जमात पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। बताया जाता है कि जमात में शामिल 24 कार्यकर्ताओं में कोरोना की पुष्टि हुई है।

--आईएएनएस

Related Articles

Comments

 

चुनाव आयोग से मिलती जुलती वेबसाइट का पर्दाफाश, एक पकड़ा गया

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive