Kharinews

दुष्कर्म के आरोपियों के मारे जाने की नेताओं, अफसरों ने की प्रशंसा (लीड-1)

Dec
06 2019

नई दिल्ली, 6 दिसंबर (आईएएनएस)। हैदराबाद की एक पशु चिकित्सक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के चार आरोपियों के शुक्रवार को पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद नेताओं ने पुलिस कार्रवाई की सराहना करते हुए उनकी प्रशंसा की।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, हैदराबाद में नरपिशाचों को उनके पाप की सजा मिली। पूरे देश को बड़ा सुकून मिला। दुष्टों के साथ यही व्यवहार होना चाहिए। जो जस कीन तो तस फल चाखौ।

लंबी कानूनी प्रक्रिया पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा, इस मामले में हमने मौत की सजा तय की है, लेकिन अभी तक इस प्रकार के मामले में निचली अदालत, हाईकोर्ट, सुप्रीम कोर्ट और दया याचिका के चलते किसी दोषी को फांसी नहीं हो सकी है। न्याय मिलने में देरी न्याय से वंचित रखने के समान है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस मसले पर कई ट्वीट किए।

उन्होंने कहा, इस घटना को अंजाम देने वाले सभी पुलिस अधिकारी एवं पुलिसकर्मी अभिनंदन के पात्र हैं। सदी के 19वें साल में महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देने वाली यह सबसे बड़ी घटना है।

उन्होंने आगे कहा, जिस घर की बेटी निर्दयता की शिकार होकर दुनिया से चली गई, उस परिवार का दु:ख कभी कम नहीं होगा, किंतु उस बहन की आत्मा को शांति मिलेगी तथा भारत की अन्य लड़कियों के मन का भय कुछ कम होगा। जय तेलंगाना पुलिस।

हैदराबाद के भाजपा विधायक टी. राजा सिंह ने ट्वीट किया, न्याय मिल गया। तेलंगाना पुलिस के साथ पूरा देश खड़ा है।

शिरोमणि अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, हैदराबाद चिकित्सक के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर उसकी हत्या करने के मामले में हुई कार्रवाई को लेकर में देश की सभी बेटियों और पिताओं की ओर से हैदराबाद पुलिस का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। तुरंत न्याय के लिए ऐसे दोषियों को लोगों के हवाले कर देना चाहिए। मैं अदालतों से भी अनुरोध करना चाहता हूं कि ऐसे मामलों में जमानत नहीं दी जाएं, क्योंकि यह उन आरोपियों के लिए इस प्रकार के अपराध को पुन: करने का प्रमाण पत्र साबित होती है।

दिल्ली के पूर्व पुलिस आयुक्त अजय राज शर्मा ने आईएएनएस से कहा, आत्मरक्षा में पुलिस को ऐसे अपराधियों को मारने का अधिकार है। मुझे उम्मीद है कि मानवाधिकार वाले इस घटना को मुद्दा नहीं बनाएंगे। दुष्कर्मियों का एनकाउंटर करने वाले पुलिसकर्मियों को परेशान नहीं किया जाना चाहिए। सरकार को कानून बनाकर ऐसे विपरीत हालात से निपटने वाले पुलिसकर्मियों को संरक्षण देना चाहिए।

बीएसएफ के पूर्व महानिदेशक रजनीकांत मिश्रा ने आईएएनएस से कहा, हैदराबाद पुलिस ने सौ प्रतिशत सही काम किया। जैसा कि बताया जा रहा है कि दुष्कर्म मामले में पकड़े गए आरोपी हथियार छीनकर भागने की कोशिश करने लगे तो पुलिस क्या करती, बहरहाल अभी विस्तृत जानकारी सामने आने पर ही टिप्पणी करना उचित होगा।

हैदराबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर शादनगर के पास चटनपल्ली में पुलिस से कथित तौर पर हथियार छीनने की कोशिश के बाद भाग रहे आरोपियों को शुक्रवार सुबह पुलिस ने मार गिराया। पुलिस वहां दुष्कर्म की रात मौका-ए-वारदात का क्राइम सीन समझने के लिए आरोपियों को लेकर गई थी।

--आईएएनएस

Related Articles

Comments

 

उप्र में पति की हत्या के मामले में महिला गिरफ्तार

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive