Kharinews

फेसबुक इंडिया के एमडी अजीत मोहन को विधानसभा समिति का नोटिस

Sep
20 2020

नई दिल्ली, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। फेसबुक इंडिया के वीपी और एमडी अजीत मोहन को दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति ने एक बार फिर नोटिस जारी किया है। 23 सितंबर को उन्हें समिति के सामने उपस्थित होकर अपना पक्ष रखने के लिए नए सिरे से नोटिस जारी किया गया है।

विधान सभा समिति के मुताबिक इसके बाद नोटिस के किसी भी खंडन या अवहेलना को जानबूझ कर विशेषाधिकार का उल्लंघन का कार्य माना जाएगा और फेसबुक इंडिया के खिलाफ शुरू की गई अन्य विभिन्न कार्यवाहियों को किया जाएगा।

15 सितंबर, 2020 को संपन्न हुई पिछली बैठक में समिति के समक्ष फेसबुक के शीर्ष अधिकारी अजीत मोहन उपस्थित नहीं हुए थे।

समिति के अध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा,फेसबुक इंडिया द्वारा दिए गए स्पष्टीकरण पर विचार-विमर्श किया और इसे स्पष्ट रूप से गलत और तुच्छ पाया। फेसबुक इंडिया द्वारा दिखाई गई अवमानना को लेकर गंभीरता समिति के सामने यह बात आई कि फेसबुक जानबूझकर कानूनी प्रक्रिया से बचने की कोशिश कर रहा है। साथ ही समिति को उसके खिलाफ लगाए गए आरोप की वास्तविकता का पता लगाने में पूरा सहयोग नहीं दे रहा है। इस अवमानना के संबंध में, भारत के संविधान द्वारा प्राप्त शक्तियों और विशेषाधिकारों का उपयोग करते हुए उन्हें समिति के सामने पेश होने का एक अंतिम अवसर प्रदान करने के लिए सम्मन करने का फैसला लिया गया।

राघव चड्ढा ने स्पष्ट रूप से कहा,दिल्ली विधायी समिति अपने संवैधानिक रूप से विधि सम्मत क्षेत्राधिकार में काम कर रही है और इसी तरह के मुद्दों पर केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में संघर्ष या कमजोर नहीं है। भारत के उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ के निर्णय के अनुसार राज्य (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली) बनाम भारतीय संघ (2018) 8 एससीसी 501, दिल्ली विधान सभा के पास इन विषयों के संबंध में विधायी शक्तियां हैं, और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के पास उसी के संबंध में अनन्य कार्यकारी शक्ति है। इसके अलावा, दिल्ली (विधानसभा आचरण नियम) की विधान सभा में व्यवसाय की प्रक्रिया और आचरण के नियम जो कि जीएनसीटीडी अधिनियम की धारा 33 के तहत बनाए गए हैं, इस समिति को गवाहों की उपस्थिति को बुलाने और सुनिश्चित करने की शक्तियां प्रदान करते हैं।

समिति द्वारा यह भी नोट किया गया कि फेसबुक के अधिकारियों को बुलाने का उद्देश्य स्पष्ट होने के बावजूद, जिसके बारे में संसदीय समिति से अलग है, फेसबुक ने संसदीय समिति की शक्तियों और विशेषाधिकारों की आड़ में अनादर करने का फैसला किया।

-- आईएएनएस

जीसीबी/जेएनएस

Related Articles

Comments

 

आगरा में कोविड मामलों में दर्ज की जा रही गिरावट

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive