Kharinews

निज्‍जर की हत्‍या में भारत की भूमिका की स्‍पष्‍ट खुफिया जानकारी, सच्‍चाई है सिखों का डर: कनाडा के सिख सांसद

Sep
27 2023

टोरंटो, 27 सितंबर (आईएएनएस)। कनाडाई सिख सांसद जगमीत सिंह ने कहा कि देश के पास "स्पष्ट" और "विश्वसनीय खुफिया जानकारी" है जो बताती है कि एक विदेशी सरकार उसके नागरिक और खालिस्तान समर्थक कट्टरपंथी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में शामिल थी। उन्‍होंने कहा कि कनाडा में सिखों को निशाना बनाए जाने का डर "बहुत वास्तविक" है।

यह दावा करते हुए कि उन्हें प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से एक तथा एक अन्‍य खुफिया ब्रीफिंग मिली हैं, सिंह ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा, "प्रधानमंत्री ने सार्वजनिक रूप से जो कहा है मैं उसकी पुष्टि कर सकता हूं - कनाडा के पास स्पष्ट खुफिया जानकारी है जो उजागर करती है कि कनाडा की धरती पर एक कनाडाई नागरिक की हत्या कर दी गई और इसमें एक विदेशी सरकार शामिल थी।"

सत्तारूढ़ लिबरल पार्टी की सहयोगी न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) के नेता सिंह ने कहा, "मुझे लगता है कि यह खुफिया जानकारी बहुत विश्वसनीय है।"

ट्रूडो की लिबरल पार्टी 338 सदस्यीय हाउस ऑफ कॉमन्स में अकेले बहुमत में नहीं है। उसका अस्तित्व सिंह की एनडीपी पर निर्भर है।

भारत में खालिस्तान समर्थक के रूप में जाने जाने वाले नेता ने कहा कि कनाडा में सिखों को निशाना बनाए जाने का डर "बहुत वास्तविक" है।

उन्होंने कहा, "लंबे समय से, सिख समुदाय के सदस्यों को भारत सरकार की कार्रवाइयों द्वारा निशाना बनाया गया है, और लंबे समय से या तो इस पर किसी का ध्यान नहीं गया या इसे महत्‍व नहीं दिया गया।"

उन्‍होंने कहा "बहुत से लोगों के लिए जी7 राष्ट्र के प्रधानमंत्री से विदेशी सरकार द्वारा कनाडा की धरती पर एक कनाडाई की हत्या से जुड़ी खुफिया जानकारी के बारे में सुनना उस डर की पुष्टि करता है जो उन्‍होंने महसूस किया है। इसने उस डर को और भी अधिक वास्तविक और मूर्त बना दिया है।"

उन्होंने यह भी दावा किया कि भारत के अन्य प्रवासी समुदायों के सदस्य, जिन्हें उनकी मानवाधिकार सक्रियता के कारण निशाना बनाया गया है और "भारत सरकार या सरकारी नीतियों" के आलोचक हैं, वे भी "उस डर को महसूस करते हैं"।

उन्‍होंने दावा किया, "मैं मुसलमानों जैसे अन्य धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों, महिलाओं जैसे उत्पीड़ित अन्य समुदायों और निम्न जाति पृष्ठभूमि या आदिवासी पृष्ठभूमि से आने वाले समूहों की बात करता हूं, जिन्होंने अपने साथ होने वाले व्यवहार के बारे में बहुत गहरी चिंता व्यक्त की है। वे भी डर और चिंता की वह वास्तविक भावना महसूस कर रहे हैं।"

इससे पहले, सिंह ने भारत के खिलाफ ट्रूडो के आरोपों के बाद निज्जर की हत्या के पीछे की सच्चाई की तह तक जाने का वादा करते हुए अपने मतदाताओं से बात की थी।

सबूतों को सार्वजनिक रूप से जारी करने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि जानकारी उचित तरीके से सार्वजनिक की जाएगी, और इसे जल्दी करने से "जांच और जो काम किया जा रहा है वह खतरे में पड़ जाएगा"।

एनडीपी नेता ने कहा, "यह अभूतपूर्व खुफिया जानकारी है जो सामने आई है। यही कारण है कि हम कनाडा सरकार से आग्रह करते रहेंगे कि इसकी गहन जांच हो ताकि जिम्मेदार लोगों को सामने लाया जा सके।"

सीटीवी समाचार चैनल की रिपोर्ट के अनुसार, सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि वह इस मामले ब्रीफिंग का उनका अनुरोध इसलिए स्‍वीकार किया गया क्योंकि उन्हें पूर्व गवर्नर जनरल डेविड जॉन्सटन द्वारा तैयार की गई विदेशी-हस्तक्षेप सामग्री की समीक्षा करने के लिए शीर्ष-गुप्त सुरक्षा मंजूरी मिली थी।

निज्जर की हत्या के मामले में भारतीय एजेंसियों के अधिकारियों की संलिप्तता को लेकर ट्रूडो द्वारा लगाए गए आरोपों के बाद भारत और कनाडा के बीच संबंधों में दरार आ गई है। निज्‍जर की जून में सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

दावों को "बेतुका" बताते हुए, भारत सरकार ने कनाडा पर अपने दावे के समर्थन में सबूत उपलब्ध नहीं कराने का आरोप लगाया है।

Related Articles

Comments

 

मध्य प्रदेश चुनाव : बालाघाट पोस्टल बैलेट मामले में अब एसडीएम पर गिरी गाज

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive