Kharinews

हनीट्रैप मामले से जुड़े वीडियो पर फिर गरमाई मप्र की सियासत

Nov
19 2019

भोपाल, 19 नवंबर (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश के हनीट्रैप मामले में गिरफ्तार एक महिला को सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के एक पूर्व मंत्री के साथ देखे जाने पर राज्य की सियासत एक बार फिर गरमा गई है। सत्ताधारी कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर हमले कर रही है। भाजपा इस वीडियो पर कुछ भी कहने से कतरा रही है।

राज्य में सोमवार से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कथित तौर पर पूर्व मंत्री के साथ हनीट्रैप मामले की आरोपी महिला नजर आ रही है। इस वीडियो में जो बातचीत सुनाई दे रही है, उसमें भाजपा और आरएसएस के कुछ नेताओं के नाम लिए गए हैं। पूर्व मंत्री कथित तौर पर अपने राजनीतिक नुकसान का भी जिक्र कर रहे हैं।

इस पूर्व मंत्री को व्यापम घोटाले में आरोपी बनाया गया था और उन्हें जेल भी जाना पड़ा था।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के.के. मिश्रा ने कहा, इस वीडियो के सामने आने से हकीकत उजागर हो गई है और वे चेहरे बेनकाब हो गए हैं, जिन पर मैं आरोप लगाता रहा हूं। इसके साथ ही जांच एजेंसी सीबीआई भी सवालों के घेरे में आ गई है, क्योंकि वीडियो में शर्मा जिन बड़े नेताओं के नाम ले रहे हैं, उन पर व्यापम घोटाले की आंच भी नहीं आई है।

वहीं दूसरी ओर, भाजपा इस वीडियो पर कुछ भी कहने से कतरा रही है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने इस वीडियो के बारे में जानकारी होने से ही इनकार कर दिया।

हनीट्रैप मामले का पिछले माह खुलासा हुआ था। इंदौर नगर निगम के एक इंजीनियर को ब्लैकमेल करने की नीयत से बड़ी रकम मांगी गई थी। इंजीनियर की शिकायत पर यह मामला सामने आया। इस मामले में 5 महिलाओं और एक पुरुष को गिरफ्तार किया गया है। मामले की जांच एसआईटी कर रही है।

पकड़ी गई महिलाओं से पूछताछ में यह खुलासा भी हुआ था कि वे कई राजनेताओं, अधिकारियों और कारोबारियों के संपर्क में रहकर उनसे मनमाफिक काम कराती थीं और काम हो जाने पर संबंधित व्यक्ति से मोटी रकम लेती थीं। जब कोई उन्हें मनचाही रकम नहीं देता था तो वे उसे ब्लैकमेल करने की धमकी देती थीं। इन महिलाओं के पास से पुलिस को कई ऐसे ऑडियो और वीडियो मिले हैं जो राजनेताओं और अफसरों के गठजोड़ का खुलासा करते हैं।

--आईएएनएस

Related Articles

Comments

 

किशोरियों का गर्भवती हो जाना चिंता की बात : हर्षवर्धन

Read Full Article
0

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive