Kharinews

चाइना और बाबा रामदेव की पतंजलि के बीच व्यावसायिक संबंध, MOU हुआ वायरल

Jun
27 2020

चीन और बाबा रामदेव की कंपनी के बीच व्यावसायिक सम्बन्ध 
बाबा का चीन विरोध है दिखावा, MOU की कॉपी हुई वायरल 

भोपाल : 27 जून/ इस समय देश भर में चीन के खिलाफ गुस्सा है. भाजपा की मोदी सरकार भले 20 जवानों की शहादत के बाद भी चीन के खिलाफ आक्रामक ना हो लेकिन देश की जनता में आक्रोश है. लोग सवाल उठा रहे हैं कि पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक पर वोट माँगने वाली मोदी सरकार चीनी हमले के खिलाफ आखिर चुप क्यों है?

खबर के साथ लगी तस्वीर को ध्यान से देखिए। यह चीन के हेबेई प्रोविंस के नेन्डगैंग के शहर की है। इस तस्वीर में जो चीनी दिखाई दे रहे हैं वो पीपुल्स आर्मी के रिटायर्ड अधिकारी हैं और नेन्डगैंग इंडस्ट्रियल कमेटी के एडमिनिस्ट्रेटिव कमेटी के सदस्य हैं। जो व्यक्ति बीच मे बैठा हुआ है उससे आप सब परिचित होंगे। जी हां यह बाबा रामदेव के चेले और पतंजलि के 98 प्रतिशत शेयर धारक यानी कि मालिक आचार्य बालकृष्ण है।

दरअसल इस तस्वीर में दिख रहा दृश्य पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड और नेन्डगैंग इंडस्टियल सोसाइटी के बीच हुए एमओयू का है जो कि 15 दिसंबर 2018 को हुआ। यानि कि मोदी सरकार आने के बाद। जानकारी के अनुसार इस एमओयू में भारत के मौजूदा चीनी राजदूत ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। कहा जा रहा है कि बाबा रामदेव और बालकृष्ण इस समझौते को अंजाम देने कई बार चीन भी गए। 

Related Articles

Comments

 

दलित-पिछड़ा उत्पीड़न हिंसा का हब बना उत्तर प्रदेश : अजय कुमार

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive