अहमदाबाद के दरियापुर में मदरसा में सर्वे करने पहुंची टीम पर भीड़ ने किया हमला, केस दर्ज

0
13

नई दिल्ली, 19 मई (आईएएनएस)। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की ओर से दिए गए आदेश के बाद गुजरात के 1,100 से ज्यादा मदरसों का सर्वे किया जा रहा है। अहमदाबाद शहर और ग्रामीण के भी कुल 205 मदरसों के सर्वे जारी हैं। अहमदाबाद के दरियापुर में मदरसा में सर्वे करने पहुंची टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया।

जब सर्वे टीम पहुंची तब मदरसा बंद था। इसी दौरान सर्वे टीम पर अहमदाबाद के दरियापुर की सुलतान सैयद मस्जिद के बाहर भीड़ ने घेराव कर हमला किया। जिसके बाद दरियापुर थाना में शिकायत दर्ज कराई गई। सरकारी काम में रुकावट और लूट के आरोप में कार्रवाई की गई है।

जानकारी के मुताबिक स्कूल के शिक्षक मदरसा की सर्वे टीम में शामिल थे, जिन पर हमला किया गया। फरहान और फैजल पर नामजद एफआईआर के साथ कुल पांच लोग और 35 से ज्यादा की भीड़ के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

सर्वे टीम में शामिल शिक्षक राकेश पांड्या ने कहा कि यह बहुत दुखद घटना है। आज जब मदरसा का सर्वे करने टीम पहुंची तो उस पर हमला किया गया। सरकार के आदेश के बाद हम यहां पर सर्वे करने आए, लेकिन, जिस तरह हम लोगों के साथ घटना घटी है, ऐसे में हमें सुरक्षा मिलनी चाहिए। चुनाव का समय चल रहा है और आचार संहिता लगा हुआ है। ऐसा संवेदनशील मामला समाज में होना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

अनमैप्ड मदरसों की भी मैपिंग करने के आदेश दिए जाने के बाद मदरसे में सर्वे किया जा रहा है। मदरसे में पढ़ते बच्चों का सामान्य स्कूल में पढ़ना जरूरी है या नहीं इसकी जांच कर रिपोर्ट सौंपने के आदेश भी दिए गए हैं। इसके मद्देनजर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने 7 मई को गुजरात के मुख्य सचिव को पत्र लिखा था। जिसके बाद सर्वे का काम शुरू किया गया।

इस दौरान मदरसा संचालक की सारी जानकारी प्राप्त की जा रही है। मदरसा संचालन से जुड़े हुए ट्रस्ट, संस्था साथ से जानकारी ली जा रही है। मदरसा में शिक्षकों को मिलने वाली सैलरी की जानकारी के साथ बच्चों से वसूली जाने वाली फीस और मदरसे को दान में मिलने वाले रूपयों तक की जानकारी सर्वे के जरिये जुटाई जा रही है।