आप सांसद स्वाति मालीवाल मामले में केजरीवाल पर हो कार्रवाई : प्रेम शुक्ला

0
14

लखनऊ, 16 मई (आईएएनएस)। आम आदमी पार्टी की सांसद स्वाति मालीवाल से बदसलूकी के मुद्दे पर सियासत गरमा गई है। इसे लेकर भाजपा ने आप प्रमुख व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घेरा है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने कहा कि इस मामले में केजरीवाल पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।

शुक्ला ने गुरुवार को भाजपा प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों के साथ चर्चा करते हुए कहा, “राज्यसभा सदस्य स्वाति मालीवाल पर आपराधिक हमला करने वाले विभव कुमार को दिल्ली शराब कांड के मुख्य षडृयंत्रकारी तथा भ्रष्टाचार शिरोमणि केजरीवाल के लखनऊ आगमन पर साये की तरह उनके साथ देखा गया। स्वाति मालीवाल ने पुलिस को कॉल की थी, जिस कॉल के आधार पर पुलिस कंट्रोलरूम में दर्ज शिकायत में लिखा है कि ‘महिला कॉल कर रही है कि मैं सीएम आवास पर हूं और उन्‍होंने अपने पीए विभव कुमार से पिटवाया है। इससे स्पष्ट है कि स्वाति मालीवाल की पिटाई मुख्यमंत्री के कहने पर विभव कुमार द्वारा की गई। इसके पश्चात् आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने प्रेसवार्ता करके स्वाति मालीवाल के साथ हुई हिंसक घटना की पुष्टि की और आश्वस्त किया कि विभव कुमार पर कार्रवाई की जाएगी।”

उन्‍होंने कहा कि विभव कुमार आज विशेष विमान में केजरीवाल के हमसाया बनकर लखनऊ की धरती पर अवतरित हुए और उनका स्वागत करने के लिए सपा मुखिया अखिलेश यादव पलक-पांवड़े बिछाए हुए थे। जब अखिलेश यादव मुख्तार और अतीक जैसे दुर्दांत अपराधियों के लिए पलक-पांवड़े बिछा सकते हैं तो स्वाभाविक है कि जेल से बेल पर चुनाव प्रचार के लिए निकले केजरीवाल का स्वागत भी करेंगे।

शुक्ला ने कहा कि अरविंद केजरीवाल से स्वाति मालीवाल के संदर्भ में जब लखनऊ में मीडिया ने सवाल किया तो उन्होंने माइक सामने से हटा दिया और अखिलेश यादव ने कहा कि इससे भी अधिक महत्वपूर्ण सवाल हमारे पास है। इससे सवाल उठता है कि एक महिला पर हमला करने वाले हमलावर को अपना साया बनाकर घूमने वाले मुख्यमंत्री से सवाल पूछना भी इंडी गठबंधन की प्रेसवार्ता में प्रतिबंधित किया गया। लखनऊ में कल हुई मल्लिकार्जुन खड़गे की प्रेसवार्ता में भी इस सवाल को टाला गया और यह सवाल पूछने वाले पत्रकार को धमकाया भी गया।

उन्‍होंने कहा कि महिलाओं के अधिकारों की पैरवी करने वाली एक सांसद स्वाति मालीवाल थाने में पहुंचने के बाद से अब तक रहस्यमय तरीके से गायब है। आज राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लेकर मामला दर्ज किया।

शुक्ला ने कहा कि आम आदमी पार्टी का महिला उत्पीड़न का पुराना रिकार्ड है। प्रियंका वाड्रा, राहुल गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, ममता बनर्जी एवं अखिलेश यादव जब हर मुद्दे पर बोलते हैं तो इस मुद्दे पर चुप्पी क्यों? “लड़की हूं लड़ सकती हूं” वाली प्रियंका वाड्रा आखिर स्वाति मालीवाल के लिए क्यों नहीं लड़ रही हैं, यह बड़ा सवाल है और इसका सच सबके सामने आना चाहिए।