इंडी गठबंधन ने आखिरकार स्वीकार किया, मुसलमानों को पूरा आरक्षण देना चाहते हैं, पीएम मोदी का लालू पर प्रहार

0
11

नई दिल्ली, 7 मई (आईएएनएस)। महाराष्ट्र के बीड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के ‘मुसलमानों को आरक्षण मिलना चाहिए’ वाले बयान पर जवाब दिया।

उन्होंने लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि आज सुबह ही इंडी गठबंधन के एक और नेता ने इनकी साजिश को खुद ही स्वीकार कर लिया है और इनके झूठ को बेनकाब कर दिया है। ये वही नेता हैं, जिन्हें चारा घोटाले में अदालत ने सजा दी है। इंडी गठबंधन के इस नेता ने आखिरकार स्वीकार कर लिया है। यह लोग मुसलमानों को पूरा का पूरा आरक्षण देना चाहते हैं, यानी अभी जो एससी, एसटी, ओबीसी को आरक्षण मिलता है, वो बंद करके ये लोग पूरा आरक्षण मुसलमानों को देना चाहते हैं। उन्होंने आज सुबह ही ये कहा है। ये देश के हर दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों के लिए खतरे की घंटी है। इसलिए आपको इंडी गठबंधन के इरादों से सावधान रहना है।

दरअसल, पटना में लालू यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जनता समझ गई है भाजपा को, आरक्षण तो मिलना चाहिए मुसलमानों को पूरा।

इस बयान के बाद लालू यादव भाजपा के निशाने पर आ गए। हालांकि, विवादों को बढ़ता देख उन्होंने कुछ ही घंटों में सफाई भी दे दी।

दूसरी तरफ पीएम मोदी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बिना नाम लिए निशाना साधते हुए कहा, “तुष्टीकरण की सनक में शहजादे एक और खतरनाक चाल चल रहे हैं। आप भी जानते है बाबा साहेब अंबेडकर ने दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों को आरक्षण का अधिकार दिया था। बाबा साहेब अंबेडकर ने इस बात का भी पुरजोर विरोध किया था कि भारत में धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जा सकता है। इस बात पर बाबा साहेब अड़े हुए थे। पूरी संविधान सभा ने आज से 75 साल पहले लंबी चर्चा करके तय किया था कि धर्म के आधार पर इस देश में आरक्षण नहीं दिया जा सकता है। लेकिन, कांग्रेस पार्टी दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों का आरक्षण छीनकर उसे धर्म के नाम पर देना चाहती है।”

बीड में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “आज तीसरे चरण का मतदान खत्म होने को है और साथ ही इंडी अघाड़ी की उम्मीदें भी खत्म हो गई हैं। पहले चरण में इंडी अघाड़ी पस्त हुआ, दूसरे में ध्वस्त हुआ और आज तीसरे चरण में इंडी अघाड़ी का कहीं अगर छोटा-मोटा दीया जल रहा था तो वह भी बुझ गया।”

पीएम मोदी ने इंडी गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा, “इंडी अघाड़ी एक ही एजेंडे से चुनाव लड़ रही हैं, इनका एक ही एजेंडा है। अगर यह सरकार में आएंगे तो ‘मिशन कैंसिल’ चलाएंगे। इन्होंने कहा इंडी वाले जब सरकार में आएंगे तो आर्टिकल 370 को फिर से लागू करेंगे, सीएए को कैंसिल करेंगे, तीन तलाक कानून को कैंसिल करेंगे। मोदी जो किसानों को सम्मान निधि भेजता है, ये लोग इसको भी कैंसिल करेंगे, गरीबों को मुफ्त राशन को कैंसिल करेंगे। इतना ही नहीं, कांग्रेस और इंडी अघाड़ी वाले राम मंदिर को भी कैंसिल करना चाहते हैं।”