एक तरफ है पीएम मोदी का विकास मॉडल, दूसरी ओर केजरीवाल की भ्रष्टाचार नीति : हरदीप पुरी

0
10

नई दिल्ली, 12 मई (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में एक सरकार पिछले दस सालों से है, लेकिन विकास के नाम पर इसने सिर्फ भ्रष्टाचार किया है।

उन्होंने कहा कि एक मोदी सरकार है, जिसने देश को नई दिशा दी और देश की दशा बदलने का काम किया है। आज हम पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बनने जा रहे हैं। जबकि, 2047 तक हम विकसित राष्ट्र बनकर सबके सामने होंगे।

उन्होंने कांग्रेस द्वारा देश में लगाए गए अपातकाल को याद करते हुए कहा कि हमारे देश में अगर लोकतंत्र को सबसे ज्यादा खतरा कभी हुआ तो वह कांग्रेस सरकार में हुआ था। उन्होंने आपातकाल लगाकर लोकतंत्र की हत्या की थी।

हरदीप पुरी ने नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी बांसुरी स्वराज के समर्थन में आयोजित एक व्यापारी सम्मेलन में ये बातें कहीं।

सम्मेलन में मौजूद व्यापारियों ने भाजपा के समर्थन का संकल्प लिया। पुरी ने कहा कि दिल्ली में जब शराब घोटाला हुआ, तो उस वक्त विजय नायर, जो सौरभ और आतिशी को रिपोर्ट करता था, उसे जज ने साफ तौर पर कहा कि आपने घूस मांगी और उन पैसों का प्रयोग आपने गोवा चुनाव में किया। मोहल्ला क्लीनिक को क्रांति बताने वाले केजरीवाल आज दिल्ली को जवाब दें कि कोरोना काल में कितने लोगों को वैक्सीन इस मोहल्ला क्लीनिक में लगाई गई। सिर्फ बातों से लोगों को गुमराह करने वाले केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों को कुछ नहीं दिया।

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि चुनाव को एक बेहतर परिणाम देना है और उसके लिए मोदी सरकार के विकास मॉडल और दूसरी तरफ केजरीवाल सरकार की भ्रष्टाचारी नीति में से एक को चुनना है। एक तरफ मोदी सरकार अपनी उपलब्धियों को आधार बनाकर चुनाव में लोगों के बीच जा रही है। दूसरी तरफ, केजरीवाल जो 22 दिन के अंतरिम बेल पर बाहर आए हुए हैं, सिर्फ दूसरी पार्टियों की बात कर रहे हैं, क्योंकि उनके पास अपने बारे में और अपनी पार्टी या सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताने के लिए कुछ नहीं है।

इस दौरान वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि भाजपा हमेशा ही व्यापारियों की समस्याओं के समाधान करने के लिए आगे रहती है। जब भी व्यापारियों को किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी सहायता करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।