ओवैसी के ‘जय फिलिस्तीन’ कहने पर भड़के गिरिराज समेत कई नेता, की कड़ी कार्रवाई की मांग

0
14

नई दिल्ली, 26 जून (आईएएनएस)। हर मसले पर बेबाकी से अपनी राय रखने वाले एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी फिर विवादों में आ गए हैं। बीजेपी उन पर हमलावर हो गई है। मंगलवार को ओवैसी ने संसद में शपथ लेने के दौरान ‘जय फिलिस्तीन’ का नारा लगाया था, जिसके बाद सत्ता पक्ष से जुड़े कई सांसदों ने बुधवार को भी इस पर आपत्ति जताई और उनकी जमकर आलोचना की।

गिरिराज सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान ओवैसी पर जोरदार निशाना साधा। उन्होंने कहा, “ओवैसी ने जिस तरह से संसद में शपथ ली है, उससे पूरे देश का अपमान हुआ है। फिलिस्तीन जिंदाबाद कहना गलत है, इससे पूरे देश की बदनामी हुई है। उन्हें संसद से बाहर निकालना चाहिए। ओवैसी देश को सीरिया बनाना चाहते हैं। वो देश में गजवा ए हिंद की अवधारणा को स्थापित करना चाहते हैं। इसलिए मैं बार-बार यही कहूंगा कि ओवैसी पर कार्रवाई होनी चाहिए।“

बता दें कि ओवैसी को संसद से निष्कासित करने के संबंध में राष्ट्रपति को पत्र भी लिखा गया है, जिस पर गिरिराज ने कहा, “हां बिल्कुल, लिखना ही चाहिए। मैं तो कहूंगा कि इनकी सदस्यता रद्द होनी चाहिए। ओवैसी ने इस तरह की नारेबाजी कर संसद की गरिमा पर कुठाराघात किया है।“

बिहार सरकार में मंत्री नितिन नवीन ने ओवैसी के बयान पर कहा, “ऐसे लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए। इन्हें संसद से बाहर करना चाहिए। ये लोग देश में रहने के योग्य नहीं हैं, जो देश की मिट्टी का अपमान करे, ऐसे व्यक्ति को देश में रहने का बिल्कुल भी अधिकार नहीं है। मैं तो कहूंगा कि ओवैसी जैसे लोगों पर निश्चित रूप से कार्रवाई होनी चाहिए। ऐसे लोग हमेशा ही देश के लिए घातक सिद्ध होते हैं। इन पर देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए।“

आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने ओवैसी द्वारा संसद में जय फिलिस्तीन का नारा लगाने के संबंध में कहा, “ओवैसी की राजनीति हमेशा से ही नफरत और विवादों से भरी हुई रही है। बीजेपी और ओवैसी की राजनीति हमेशा से ही एक-दूसरे के पूरक रही है। बीजेपी के नेता जहां लगातार हिंदू राष्ट्र की अवधारणा को स्थापित करने के बारे में सोच रहे हैं, वहीं ओवैसी भरी संसद में जय फिलिस्तीन का नारा लगा रहे हैं। आखिर हो क्या रहा है। अगर इस तरह का चलन बढ़ता चला जाएगा, तो इससे ज्यादा दुख की बात कुछ नहीं होगी, इसलिए सत्ता में बैठे लोगों को सुधरना होगा। सत्ता में बैठे लोगों को अपना आचरण सुधारना होगा और ओवैसी जैसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।“

वहीं भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री हर्ष मल्होत्रा ने भी ओवैसी के बयान की निंदा की। उन्होंने कहा, “ओवैसी द्वारा जय फिलिस्तीन का नारा लगाने से यह साफ जाहिर होता है कि उन्हें भारत की भूमि से कोई लगाव नहीं है। जिस तरह से उन्होंने भरी संसद में ऐसा नारा लगाया, वह एक प्रकार से संसद की गरिमा पर ठेस है। जिसकी हम निंदा करते हैं। हम अध्यक्ष जी से मांग करते हैं कि वो इस पर संज्ञान लें।“

बता दें कि संसद में शपथ लेते समय में जय फिलिस्तीन का नारा लगाने को लेकर ओवैसी विवादों में आ गए हैं। चौतरफा उनकी आलोचना की जा रही है। उन्हें संसद से बाहर करने की मांग भी तेज हो रही है।