कांग्रेस की फितरत में ही तानाशाही है : सम्राट चौधरी

0
13

पटना, 24 जून (आईएएनएस)। बिहार भाजपा के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने सोमवार को कहा कि एक बार फिर से कांग्रेस सहित पूरा विपक्ष ‘संविधान बदलने’ वाले झूठ के जरिए अपने ‘पापों’ को छुपाने की कोशिश में है। 25 जून, 1975 को संविधान और लोकतंत्र की हत्या करने वालों का संविधान की दुहाई देना हास्यास्पद है।

लोकसभा में विपक्ष के कई सदस्यों के संविधान की कॉपी लेकर पहुंचने पर सम्राट चौधरी ने आपातकाल का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भारत की नई पीढ़ी इस बात को कभी नहीं भूलेगी कि 50 साल पहले 25 जून को कांग्रेस ने देश के संविधान की धज्जियां उड़ाई थी। देश जेलखाना बना दिया गया और लोकतंत्र पूरी तरह से कुचल दिया गया था।

उन्होंने कहा कि आज अपने संविधान की रक्षा करते हुए, भारत के लोकतंत्र और लोकतांत्रिक परंपराओं की रक्षा करते हुए देशवासी इस बात का संकल्प लें कि जो 50 साल पहले किया गया, कांग्रेस फिर करने की हिम्मत नहीं करे। कांग्रेस की फितरत में ही तानाशाही है। देश की जनता को यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि 25 जून 1975 को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपने राजनीतिक हितों को साधने के लिए देश में आपातकाल लगा दिया था। रातों-रात देशभर के विरोधी राजनेताओं को जेलों में ठूंस दिया गया था।

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस के कुकृत्य की वजह से ही 25 जून सदैव भारत के लोकतंत्र के इतिहास में ‘काला दिन’ के रूप में जाना जाएगा। संविधान और लोकतंत्र में निष्ठा रखने वाले लोगों के लिए 25 जून कभी नहीं भूलने वाला दिन है।