केजरीवाल कस्टडी में, पत्नी राजनीतिक मंच पर, लोगों से कर रहीं हैं अपील

0
9

नई दिल्ली, 31 मार्च (आईएएनएस) । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल पार्टी की ओर से राजनीतिक मंच सांझा कर रही हैं। रविवार को वह दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित इंडिया ब्लॉक की रैली ‘लोकतंत्र बचाओ’ में शामिल हुईं। इस दौरान अरविंद केजरीवाल का संदेश पार्टी के किसी मंत्री या वरिष्ठ नेता की बजाए, उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल ने ही पढ़ा। यह भी एक कारण है कि बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच उनके राजनीति में प्रवेश की अटकलें तेज हो गई हैं।

इससे पहले उन्होंने केजरीवाल के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस व समर्थन अभियान की भी शुरुआत की है। राजनीति के विशेषज्ञ इसे सुनीता केजरीवाल की राजनीति में एंट्री के तौर पर भी देख रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, उद्धव ठाकरे और शरद पवार, सीपीआई नेता सीताराम येचुरी, कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे सहित शीर्ष विपक्षी नेताओं के साथ मंच साझा करते हुए सभा में अपना संबोधन एक प्रश्न पूछकर शुरू किया।

उन्होंने अपने पति की गिरफ्तारी में केंद्र सरकार की भूमिका पर सवाल किया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कथित एक्साइज पॉलिसी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया है। फिलहाल वह वित्तीय जांच एजेंसी की हिरासत में हैं। विपक्षी नेताओं की रैली में सुनीता केजरीवाल ने कहा, “मैं एक प्रश्न पूछना चाहती हूं। क्या यह उचित है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरे पति को जेल में डाल दिया है। क्या आप केजरीवाल की ईमानदारी और देशभक्ति में विश्वास करते हैं। उनकी गिरफ्तारी के कारण उनके इस्तीफे के लिए भाजपा के दबाव के बावजूद, क्या आपको लगता है कि उन्हें पद छोड़ देना चाहिए।”

उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा भेजे गए पत्र को पढ़ने से पहले कहा। “याद रखें, आपका केजरीवाल शेर की तरह है, वे उन्हें लंबे समय तक कैद में नहीं रख सकते।’ रैली में केजरीवाल का पत्र पढ़ते हुए, सुनीता केजरीवाल ने देश के आध्यात्मिक मूल्यों को विश्व स्तर पर फैलाने, भारत के भीतर एकता को बढ़ावा देने और देश भर में 24 घंटे बिजली की पहुंच की गारंटी देने का इरादा व्यक्त किया।

गौरतलब है कि इंडिया ब्लॉक का प्रतिनिधित्व करने वाले नेता, दिल्ली शराब नीति से संबंधित कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में रैली कर रहे हैं। रैली का आह्वान आम आदमी पार्टी (आप) ने किया है, जो इंडिया ब्लॉक का हिस्सा है।

रैली में मौजूद नेताओं में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और शरद पवार, सीपीआई नेता सीताराम येचुरी, कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, कल्पना सोरेन (हेमंत की पत्नी) शामिल हैं। इनके अलावा समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव, नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव और आप नेता गोपाल राय भी विपक्षी दलों की इस रैली में शामिल हुए हैं।