केजरीवाल को अंतरिम जमानत मिलने पर आप-कांग्रेस ने किया स्वागत, भाजपा बोली- सिर्फ चुनाव तक है बेल

0
15

नई दिल्ली, 10 मई (आईएएनएस)। दिल्ली शराब घोटाला मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने सीएम केजरीवाल को 1 जून तक अंतरिम जमानत दी है, उन्हें 2 जून को सरेंडर करने के लिए कहा गया है। कोर्ट के इस फैसले से आम आदमी पार्टी के नेताओं में खुशी की लहर है तो वहीं भाजपा का कहना है कि चुनाव के लिए उन्हें जमानत दी गई है।

सुप्रीम कोर्ट से सीएम केजरीवाल को राहत मिलने के बाद उनके वकील शादान फरासत की प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा कि इस फैसले से दिल्ली और देश की जनता में खुशी का माहौल है। सच्चाई की जीत हुई है, तानाशाह ने बेवजह झूठे इल्जाम लगा कर अरविंद केजरीवाल को जेल में डालने का काम किया था।

सीएम केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलने पर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा की भी प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा कि कोर्ट के फैसले का हम स्वागत करते हैं और उम्मीद करते हैं कि 4 जून के बाद पीएम मोदी, जो तब तक भूतपूर्व प्रधानमंत्री हो जाएंगे, फिर उन्हें समय मिलेगा कि वह साबरमती आश्रम में बैठकर आत्म चिंतन करें कि किस तरह की राजनीति वो करते हैं। हम यह भी उम्मीद करते हैं कि झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को भी जल्द से जल्द न्याय मिले।

वहीं, मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि सीएम केजरीवाल शराब घोटाले में आरोपी हैं, यह कोर्ट के जजमेंट के बाद साफ हो गया है। उन्हें एक तारीख तक सिर्फ चुनाव के लिए कोर्ट ने जमानत दी है। 1 जून के बाद उन्हें फिर जेल जाना होगा, वह चुनाव के लिए सिर्फ 15 दिन जेल से बाहर रह सकेंगे। अगर सीएम ने कोई करप्शन, बेईमानी नहीं की तो 15 दिन बाद सीएम केजरीवाल को जेल क्यों जाना होगा, ये देश और दिल्ली की जनता उनसे पूछ रही है।

आम आदमी पार्टी के नेता बलबीर सिंह ने कहा कि बड़ी खुशखबरी मिली है कि सीएम केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम राहत दे दी है। पार्टी कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर है, सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करता हूं।

आप नेता चेतन सिंह जौरामाजरा ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करते हैं। भाजपा ने तमाम कोशिश की थी कि आम आदमी पार्टी के नेताओं को जेल में बंद किया जाए ताकि इन्हें चुनाव में लोगों का समर्थन नहीं मिल सके।