केरल के कार्यकर्ताओं से बोले पीएम मोदी : भाजपा को हराने के लिए एकजुट है एलडीएफ और यूडीएफ, लोगों को सच बताना जरूरी

0
11

नई दिल्ली, 30 मार्च (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा है कि राष्ट्रीय स्तर पर मोदी सरकार को हराने के लिए एलडीएफ और यूडीएफ एकजुट हो गई है और पार्टी कार्यकर्ताओं को इस सांठगाठ और उनके भ्रष्टाचार के बारे में राज्य के लोगों को जागरूक करना चाहिए।

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से केरल में घर-घर जाकर लाभार्थियों से संपर्क स्थापित करने और एनडीए के पक्ष में अटूट समर्पण और सामर्थ्य को बनाए रखने का भी आह्वान किया] ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि केरल में लोग एनडीए के पक्ष में मतदान करें।

प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ कार्यक्रम के दौरान नमो ऐप के माध्यम से केरल के भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ संवाद किया। इस संवाद के दौरान उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन किया और पार्टी के चुनावी अभियान को लेकर कार्यकर्ताओं से सुझाव भी लिए। प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं से प्रदेश के प्रत्येक परिवार को राज्य में एलडीएफ-यूडीएफ की सांठगाठ और उनके भ्रष्टाचार के बारे में जागरूक करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि राजनीतिक विशेषज्ञ अक्सर भाजपा की चुनावी जीत का श्रेय उनके नेतृत्व को देते हैं, लेकिन भाजपा की जीत और सफलता का श्रेय अनगिनत कार्यकर्ताओं का जाता है, क्योंकि ये कार्यकर्ता ही उनकी शक्ति और सामर्थ्य हैं। बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं का अटूट समर्पण और कड़ी मेहनत ही भाजपा की जीत सुनिश्चित करती है। आज भाजपा और वह जहां भी हैं वो कार्यकर्ताओं के अथक प्रयासों का ही परिणाम है। केरल में एनडीए की मजबूती का कारण भी कार्यकर्ताओं का अटूट समर्पण है। कार्यकर्ताओं को आगामी लोकसभा चुनाव में भी केरल में एनडीए इस गति को बनाए रखना है और यह भी सुनिश्चित करना है कि केरल में लोग एनडीए के पक्ष में भारी मतदान करें।

उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि केरल में गरीबों के लाभ के लिए केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई विभिन्न योजनाओं के बारे में लोगों को जानकारी पहुंचाना महत्वपूर्ण है। केरल भाजपा के कार्यकर्ताओं को लाभार्थियों की सूची बनाकर प्रत्येक घर तक केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभ की जानकारी आंकड़ों के साथ पहुंचानी है। साथ ही, कार्यकर्ता प्रदेश की जनता को राज्य की राजनीतिक हकीकत से भी अवगत कराए। लोगों को यह समझाना जरूरी है कि अक्सर विरोधी दल के रूप में देखे जाने वाले एलडीएफ और यूडीएफ का लक्ष्य और एजेंडा एक ही है। दोनों ही पार्टियां राष्ट्रीय स्तर पर मोदी सरकार को हराने के लिए एकजुट होकर काम कर रही हैं।

प्रधानमंत्री ने केरल भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं से बूथ स्तर पर एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ समन्वय कर एक मजबूत टीम बनाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि बूथ स्तर पर सभी कार्यकर्ताओं के लिए टिफिन मीटिंग आयोजित करना जरूरी है। इस बैठक के दौरान सभी कार्यकर्ता अपना टिफिन ला सकते हैं और एक साथ खाना खा सकते हैं। इस बैठक में सभी कार्यकर्ताओं को क्षेत्र में परिवारों से मिलने के बारे में भी चर्चा करनी चाहिए और अपने प्रचार की आगामी योजना बनानी चाहिए।

विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इंडी गठबंधन एक-दूसरे के भ्रष्टाचार और घोटालों को छुपाने के लिए गठित हुआ है। करुवन्नूर सेवा सहकारी बैंक घोटाले में कम्युनिस्टों के बड़े नेता शामिल हैं, जिसमें ईडी ने बड़ी मात्रा में संपत्ति जब्त की है। उन्होंने केरल के लोगों को भरोसा दिलाया कि घोटालों में लिप्त दोषियों एवं जनता को लूटने वालों को कभी माफ नहीं किया जाएगा और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। भाजपा सरकार ईडी द्वारा जब्त की गई संपत्ति की नीलामी कर, पीड़ितों को उनके पैसे चुकाने पर विचार कर रही है। भाजपा के सत्ता में आने के बाद इस विषय में सकारात्मक तौर पर कार्रवाई की जाएगी। केरल में परिवारवाद ने युवाओं के भविष्य को ताला जड़ दिया है और भ्रष्टाचार ने देश को तबाह कर दिया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इंडी गठबंधन के नेता झूठ का सहारा ले रहे हैं। भारत सरकार की योजनाओं के नाम राज्य में बदल देते हैं, जिससे भारत सरकार द्वारा किए गए कार्यों के बारे में पता न चले। ऐसे में बूथ स्तर पर घर-घर जाकर सच बताना जरूरी है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं को चुनावी जीत का मंत्र देते हुए कहा कि हमारी चुनाव जीतने की पूरी रणनीति बूथ केंद्रित होनी चाहिए। कार्यकर्ताओं को आम लोगों का दिल जीतने का प्रयास करना चाहिए। जब भाजपा एक बूथ जीतेगी, तभी संसदीय सीट जीतेगी और ये जीत ही भाजपा को अपने देश को विकसित भारत बनाने के सपने को साकार करने में सहायता करेगी। अगर हमें पोलिंग बूथ जीतना है तो हमें लोगों को अपने चुनाव चिन्ह से अवगत कराना होगा। हमारा चुनाव चिन्ह ईवीएम में किस नंबर पर है, यह भी कार्यकर्ताओं को जनता को बताना है।

पीएम मोदी ने आग्रह किया कि हर दिन आधे घंटे के लिए सभी कार्यकर्ताओं को हाथों में झंडे लेकर बूथ में नारे लगाने चाहिए, जिससे जनता के बीच एक उत्साह का वातावरण बने। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि हर बूथ में एक सोशल मीडिया प्रभारी होना चाहिए, जिससे सोशल मीडिया पर स्थानीय जनता द्वारा व्यक्त किए गए विचार साझा किए जा सकें।

प्रधानमंत्री ने दावा किया कि केरल के लोगों का जोश देखकर यह स्पष्ट होता है कि केरल निश्चित ही नए रिकॉर्ड बनाने वाला है।