खूंटी में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के मुकाबले कांग्रेस ने कालीचरण को उतारा, हजारीबाग में जेपी पटेल और लोहरदगा में सुखदेव बने प्रत्याशी

0
12

रांची, 27 मार्च (आईएएनएस)। कांग्रेस ने झारखंड की तीन लोकसभा सीटों हजारीबाग, खूंटी और लोहरदगा के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया है। खूंटी सीट पर भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के मुकाबले में कांग्रेस ने कालीचरण मुंडा को प्रत्याशी बनाया है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष कालीचरण पिछले चुनाव में भी इस सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार थे और अर्जुन मुंडा से वह मात्र 1445 मतों के अंतर से पराजित हुए थे।

खास बात यह कि कालीचरण मुंडा खूंटी क्षेत्र के मौजूदा भाजपा विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा के सहोदर भाई हैं। हाल में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए मांडू विधानसभा क्षेत्र के विधायक जयप्रकाश भाई पटेल को हजारीबाग सीट पर प्रत्याशी बनाया गया है। उन्होंने मांडू क्षेत्र से लगातार तीन बार विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की है और पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे। इस सीट पर पटेल का मुकाबला भाजपा के मनीष जायसवाल से होगा। मनीष जायसवाल फिलहाल हजारीबाग सदर सीट के विधायक हैं।

पार्टी ने इस सीट पर मौजूदा सांसद जयंत सिन्हा का टिकट काटकर उन्हें बीते 2 मार्च को प्रत्याशी घोषित किया था। पूर्व विधायक सुखदेव भगत को कांग्रेस ने लोहरदगा सीट से प्रत्याशी बनाया है। यहां उनका मुकाबला भाजपा के समीर उरांव से होगा। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भी वह कांग्रेस के उम्मीदवार थे, जिन्हें भाजपा के सुदर्शन भगत ने 10 हजार 363 मतों के अंतर से पराजित किया था। लोकसभा चुनाव में पराजय के कुछ महीने बाद सुखदेव भगत भाजपा में शामिल हो गए थे। भाजपा ने उन्हें विधानसभा चुनाव में लोहरदगा सीट से प्रत्याशी बनाया था, लेकिन उन्हें कांग्रेस के डॉ रामेश्वर उरांव के हाथों पराजित होना पड़ा था। बाद में सुखदेव फिर कांग्रेस में लौट आए।

झारखंड प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा है कि कांग्रेस अपने हिस्से की बाकी चार सीटों पर प्रत्याशियों का ऐलान जल्द कर देगी।