चीन-रूस संबंध स्थिरता से आगे बढ़ रहे हैं : शी चिनफिंग

0
15

बीजिंग, 16 मई (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पेइचिंग जन वृहद भवन में यात्रा पर आये रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के साथ गुरुवार सुबह वार्ता की। दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने नये युग में चीन रूस सर्वांगीण रणनीतिक समन्वय साझेदारी गहराने के संयुक्त बयान पर हस्ताक्षर किये। दोनों नेताओं ने पहले एक सीमित बैठक की।

शी चिनफिंग ने पुतिन को राष्ट्रपति का नया कार्यकाल शुरु करने पर बधाई दी और उनकी फिर चीन यात्रा का उत्साहपूर्ण स्वागत किया। उन्होंने विश्वास जताया कि पुतिन के नेतृत्व में रूस के विकास और निर्माण में और अधिक बड़ी उपलब्धियां हासिल होंगी।

शी ने कहा कि चीन रूस संबध का स्थिर विकास न सिर्फ दोनों देशों और दोनों देशों की जनता के मूल हित में है, बल्कि क्षेत्रीय यहां तक कि विश्व शांति, स्थिरता व समृद्धि के लिए लाभदायक भी है। नये अभियान में चीन हमेशा रूस के साथ पारस्परिक विश्वसनीय अच्छा पड़ोसी, दोस्त और साझेदार बनकर पीढ़ी दर पीढ़ी मित्रता मजबूत करना, अपने-अपने देश का विकास व पुनरोत्थान करना और मिलकर विश्व न्याय व निष्पक्षता की सुरक्षा करना चाहता है।

पुतिन ने कहा कि रूस चीन संबंध का विकास न अंतरिम नीति है और न ही तीसरे पक्ष के खिलाफ है और अंतरराष्ट्रीय रणनीतिक स्थिरता के लिए लाभदायक है। रूस चीन के साथ द्विपक्षीय संबंध का विस्तार करने, यूएन, ब्रिक्स व एससीओ में संपर्क घनिष्ट करने को तैयार है ताकि अधिक युक्तियुक्त और उचित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था की स्थापना की जाए।

इसके बाद दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने प्रतिनिधि मंडल स्तरीय वार्ता की अध्यक्षता की। शी ने कहा कि वर्तमान वर्ष चीन-रूस राजनीयिक संबंध की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ है, जो चीन रूस संबंधों के विकास के इतिहास में मील का पत्थर और अहम वर्ष है। 75 वर्षों में चीन और रूस ने मिलकर बड़े देशों और पड़ोसी देशों के बीच पारस्परिक सम्मान, शांतिपूर्ण सहअस्तित्व, सहयोग व साझी जीत वाला नया रास्ता निकाला है।

चीन रूस संबंध हमेशा स्थिरता से आगे बढ़ रहे हैं और सर्वांगीण रणनीतिक समन्वय निरंतर मजबूत हो रहा है। आर्थिक व व्यापारिक, पूंजी निवेश, ऊर्जा सांस्कृतिक व स्थानीय सहयोग में निरंतर वृद्धि हो रही है। इसने वैश्विक रणनीतिक स्थिरता बनाए रखने और अंतरराष्ट्रीय संबंधों का लोकतांत्रिकरण बढ़ाने के लिए सकारात्मक योगदान दिया है।

दोनों पक्षों को राजनयिक संबंध की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ को नया प्रारंभिक बिंदु अपनाकर रणनीतिक के जुड़ाव को और मजबूत कर द्विपक्षीय सहयोग निरंतर व्यापक समृद्ध बनाना चाहिए ताकि दोनों देशों और दोनो देशों की जनता को अधिक लाभ मिले।

पुतिन ने कहा कि रूस और चीन की अंतर सरकारी सहयोग व्यवस्था का अच्छा संचालन चल रहा है। दोनों देशों के विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग स्थिरता से बढ़ रहा है। रूस-चीन संबंध विभिन्न परीक्षाओं में खरे उतरे हैं। रूस चीन के साथ रणनीतिक समन्वय मजबूत करना जारी रखेगा और एक दूसरे का समर्थन करेगा और वैश्विक बहुध्रुवीकरण और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के लोकतांत्रिकरण को बढ़ाएगा।

वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने कई द्विपक्षीय सहयोग दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किये। वार्ता से पहले शी चिनफिंग ने पुतिन के स्वागत के लिए एक भव्य समारोह आयोजित किया।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)