चुनाव हारने में जयचंदों का हाथ, मुस्लिम वोटों का ध्रुवीकरण बड़ी वजह : संजीव बालियान

0
12

मुजफ्फरनगर, 10 जून (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से करारी हार के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने बतौर भाजपा सांसद अपने पिछले दस सालों के कार्यकाल में कराए गए बड़े विकास कार्यों के बारे में बात की।

उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर में कुछ और बड़े कार्य हैं, जो अधूरे रह गए हैं। उम्मीद है कि उन्हें अब नवनिर्वाचित सांसद पूरा करने का काम करेंगे। इसके लिए वह उनका पूरा साथ देंगे।

संजीव बालियान ने बताया कि मुजफ्फरनगर तक आरआरटीएस को लाने का उनका प्रयास था, जो मेरठ तक आ चुकी है और जल्द ही चालू होने वाली है। जिसे मुजफ्फरनगर तक लाने की भी कार्ययोजना है, केवल फंड आवंटित होना है। मुजफ्फरनगर में एक मेडिकल कॉलेज की आवश्यकता है, उसे नए सांसद को बनवाना है। साथ ही मुजफ्फरनगर में सरकारी या प्राइवेट यूनिवर्सिटी नहीं है, जो मुजफ्फरनगर में जरूरी है।

उन्होंने कहा कि उनके दस साल के कार्यकाल में उन्हें मुजफ्फरनगर की जनता का भरपूर प्यार और सहयोग मिला है। उसके लिए उन्हें धन्यवाद करते हैं। अपनी हार को लेकर संजीव बालियान ने कहा कि इस हार की वजह मुस्लिम वोटों का ध्रुवीकरण और हिंदू वोटरों का मतदान कम होना है।

सरधना से पूर्व विधायक संगीत सोम को लेकर भी उन्होंने कहा कि यह बात सबको पता है कि संगीत सोम ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को चुनाव लड़ाया है, खुलकर लड़ाया है। चुनाव हारने में जयचंदों का हाथ है। पार्टी के लोग ही पार्टी के खिलाफ काम कर रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का काम पार्टी हाईकमान का है।