चौथे समन पर भी ईडी के सामने पेश नहीं हुए केजरीवाल, भाजपा ने पूछे सवाल

0
24

नई दिल्ली, 18 जनवरी (आईएएनएस)। शराब घोटाले के मामले में जांच एजेंसी ईडी के चौथे समन के बावजूद पेश नहीं होने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आलोचना करते हुए भाजपा ने कहा है कि अराजकता के पर्याय बन चुके केजरीवाल अब थर-थर कांप रहे हैं।

भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने पार्टी मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए कहा कि भारत के सबसे बड़े कट्टर बेईमान आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल थर-थर कांप रहे हैं, सर्दी में भी उनके पसीने छूट रहे हैं और वे ईडी के चौथे समन से डरे हुए हैं, पूछताछ से डरे हुए हैं क्योंकि उन्हें यह समझ आ गया है कि अपने साथी मनीष सिसोदिया और संजय सिंह की तरह शराब घोटाले के किंगपिन होने के कारण उनको भी जेल जाना पड़ेगा।

भाटिया ने चारों समन पर केजरीवाल के बहानों का जिक्र करते हुए कहा कि शराब घोटाले के किंगपिंग केजरीवाल ईडी को कह रहे हैं कि तुम अपना समन वापस लो, साथ ही वह ईडी से सवाल भी पूछ रहे हैं। आजाद भारत के इतिहास में पहले ऐसा नहीं हुआ है, जब जांच एजेंसी किसी को समन देकर बुलाए और वह जांच एजेंसी से कहे कि समन वापस लो।

भाजपा प्रवक्ता ने केजरीवाल को अराजकता का पर्याय बताते हुए कहा कि केजरीवाल अराजकता के पर्याय बन चुके हैं, जिनके डीएनए में अराजकता है, भ्रष्टाचार है, कमीशनखोरी है और लूट-खसोट है।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ईमानदारी की पर्याय है, ये पर्याय है कि अगर घोटाला करोगे तो बख्शा नहीं जाएगा। जिसे भी जांच एजेंसी ने समन दिया है, वह कानून से भाग तो सकता है, लेकिन बच नहीं सकता है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को यह समझ आ चुका है कि उनका भविष्य अंधकारमय है और वे बच नहीं पाएंगे।

–आईएएनएस

एसटीपी/एबीएम