जमाना वंदे भारत का और वे अब भी साइकिल पर चल रहे : स्मृति ईरानी

0
12

पन्ना, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बुधवार को मध्य प्रदेश के खजुराहो संसदीय क्षेत्र के भाजपा उम्मीदवार विष्णु दत्त शर्मा का नामांकन दाखिल करवाने पन्ना पहुंचीं। उन्होंने यहां कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर जमकर हमले बोले और कहा कि जमाना वंदे भारत का है और वे अब भी साइकिल पर चल रहे हैं।

भाजपा ने मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा को एक बार फिर उम्मीदवार बनाया है। पन्ना में नामांकन भरने से पहले जनसभा हुई और रोड शो भी हुआ। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री ईरानी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरा देश अबकी बार 400 पार का रास्ता देख रहा है। खजुराहो लोकसभा क्षेत्र में तो कांग्रेस पार्टी ने मैदान छोड़ दिया है, समाजवादी पार्टी को उम्मीदवार नहीं मिल रहे हैं। उत्तर प्रदेश से प्रत्याशी लेकर समाजवादी पार्टी आई, फिर दो दिन बाद ही प्रत्याशी बदल दिया।

केंद्रीय मंत्री ईरानी ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी का जिक्र करते हुए कहा, “मैं उस क्षेत्र से सांसद हूं जहां पर पांच दशक तक एक खानदान का ही राज रहा है। उस क्षेत्र में कभी भारतीय जनता पार्टी का पटका पहनना मौत का सामान घर लाने जैसा था। माथे पर तिलक लगाना, होंठों पर राम का नाम होना राजनीतिक अभिशाप माना जाता था। उस क्षेत्र में कांग्रेस का हाथ तो था ही, संग-संग साइकिल भी चलती थी। लेकिन भाजपा के कार्यकर्ताओं ने हाथ को साफ किया और साइकिल को पंचर कर दिया।”

उन्‍होंने कहा, “यह जमाना है वंदे भारत का, लेकिन वे आज भी साइकिल पर चलते हैं। यह कर्मठ कार्यकर्ताओं के संकल्प और संगठन कौशल का ही परिणाम है कि विरोधी पार्टी ने हथियार डालकर, टिकट बदलकर भाजपा की जीत का संकेत दे दिया है। मैं पार्टी प्रत्याशी और प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा को उनकी जीत की अग्रिम बधाई दे रही हूं और यह कोई दुस्साहस या अहंकार नहीं है।”

ईरानी ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार का सबसे पहला संकेत यह है कि उन्होंने हमारी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के सामने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया। दूसरा संकेत यह है कि विधानसभा चुनाव में जो दल एक-दूसरे को फूटी आंख नहीं सुहाते थे, वो सीटों का तालमेल कर रहे हैं।

उन्‍होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी, जिसके कभी सिर्फ दो सांसद हुआ करते थे, आज उसका कार्यकर्ता अबकी बार 400 पार का नारा लगाने की क्षमता रखता है। सिर ऊंचा करके विनम्रता के भाव के साथ वोट मांगता है। उन्होंने कहा कि कोविड संकट के समय जब हर तरफ मौत मंडरा रही थी और सारे विरोधी दलों के लोग भाग गए थे, तब भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता घर-घर, गांव-गांव जाकर सैनिटाइजर और मास्क बांट रहा था। हर गली में भूखे को खाना खिला रहा था। उस संकट के दौर में इतना विश्‍वास सिर्फ मोदी के मन में ही था कि हम वैक्सीन बनाएंगे, हर हिंदुस्तानी तक पहुंचाएंगे और विदेशों में भी हिंदुस्तानी वैक्सीन का जौहर दिखाएंगे। उस समय कांग्रेस और सपा के लोग वैक्सीन का मजाक उड़ा रहे थे, जनता को वैक्सीन लगवाने से रोक रहे थे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री डाॅ मोहन यादव, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, लोकसभा चुनाव के प्रदेश प्रभारी डॉ. महेन्द्र सिंह , प्रदेश शासन के मंत्री प्रहलाद पटेल, लखन पटेल, दिलीप अहिरवार, वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी एवं पूर्व मंत्री व विधायक बृजेन्द्र प्रताप सिंह, राजेश वर्मा ने भी संबोधित किया।