झारखंड की तीन सीटों पर वोटिंग के मद्देनजर बिहार व बंगाल की सीमाएं सील, क्विक रिस्पांस टीमें तैनात

0
14

रांची, 31 मई (आईएएनएस)। झारखंड के संथाल परगना इलाके की दुमका, राजमहल और गोड्डा संसदीय निर्वाचन सीटों पर शनिवार को होने वाले मतदान में सुरक्षा के मद्देनजर पड़ोसी राज्य बिहार और बंगाल की सीमाएं सील कर दी गई हैं। यह जानकारी झारखंड के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के. रवि कुमार ने शुक्रवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

उन्होंने कहा कि निष्पक्ष और भयमुक्त मतदान के मद्देनजर हर बूथ पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है। बाइक सवार क्विक रिस्पांस टीमों की भी तैनाती की गई है। किसी भी क्षेत्र से नक्सली गतिविधियों को लेकर कोई इनपुट नहीं है। लेकिन, सुरक्षा बलों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। हर बूथ पर मतदान प्रक्रिया की मॉनिटरिंग कंट्रोल रूम से वेब कास्टिंग के माध्यम से की जाएगी। प्रत्येक बूथ में भीतर और बाहर एक-एक कैमरे लगाए गए हैं। पर्यवेक्षक भी पूरी स्थिति पर अपनी नजर बनाए हुए हैं। बारिश की आशंका के बीच मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर आयोग की ओर से हरसंभव व्यवस्था की गई है। दूरस्थ इलाके के मतदाताओं को वाहन से मतदान केंद्र तक लाने और ले जाने की व्यवस्था की गई है। वरिष्ठ और दिव्यांग मतदाताओं को भी मतदान केंद्र तक लाने की व्यवस्था बनाई गई है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लोगों से अपील की है कि इस बार दिनभर मतदान का समय है, समय निकालकर परिवार और पड़ोसी संग मतदान जरूर करें।

बता दें कि गोड्डा, दुमका और राजमहल में एक जून को होने वाले मतदान में 53 लाख 23 हजार 886 वोटर कुल 52 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करेंगे। गोड्डा और दुमका में जहां 19-19 प्रत्याशी हैं, वहीं राजमहल सीट पर प्रत्याशियों की संख्या 14 है। इनमें से एकमात्र गोड्डा की सीट अनारक्षित है। जबकि, गोड्डा और दुमका की सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं।

2019 के चुनाव में इन तीनों में से दो सीटों दुमका और गोड्डा में भाजपा ने जीत दर्ज की थी। जबकि, राजमहल सीट पर झामुमो ने कब्जा किया था।