झारखंड : मंत्री के पीए के नौकर से करोड़ों की बरामदगी से सियासी हलचल, भाजपा ने भ्रष्टाचार का मुद्दा बनाया

0
17

रांची, 6 मई (आईएएनएस)। झारखंड सरकार के मंत्री आलमगीर आलम के पीए संजीव कुमार और उनके घरेलू नौकर के यहां सोमवार सुबह ईडी की छापेमारी में करीब 25 करोड़ कैश बरामद किया गया।

इस खबर ने सियासत और ब्यूरोक्रेसी गलियारों में फिर एक बार हलचल मचा दी। भाजपा ने इसे ‘इंडिया’ गठबंधन के भ्रष्टाचार का मुद्दा बना दिया है। छापेमारी में बरामद नोटों के ढेर का वीडियो दो घंटे के भीतर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ है।

झारखंड के भाजपा अध्यक्ष और पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने एक्स अकाउंट पर वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “दो दिन पहले प्रधानमंत्री झामुमो-कांग्रेस के जिस ‘लूट मॉडल’ की बात कर रहे थे, उसे इन रुपयों ने सत्यापित कर दिया है।”

पूर्व सीएम ने कहा है कि गरीबों, दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों के हक मारकर लूटे हुए इन्हीं पैसों से कांग्रेस अपने शहजादे को प्रधानमंत्री बनाने का सपना देख रही है। ईडी, सीबीआई के दुरुपयोग की दुहाई देने वाली झामुमो-कांग्रेस जनता के सामने अब कौन सा नया बहाना बनाएगी? धीरज साहू से लेकर आलमगिर आलम और पंकज मिश्रा से लेकर पूजा सिंहल तक के ठिकानों से जिस प्रकार अथाह काले धन बरामद हुए हैं, उससे पिछले 5 सालों के दौरान राज्य सरकार द्वारा की गई संगठित लूट जगजाहिर हो चुकी है।”

भाजपा नेता ने आगे लिखा, “सोचिये कि झारखंड में एक मंत्री के पीए के नौकर के यहॉं पच्चीस करोड़ नगद मिल सकता है तो दूसरे और मंत्रियों ने ग़रीबों की गाढ़ी कमाई और कितना लूट कर नौकर चाकरों तक के यहॉं छुपा कर रखा हुआ है ? हमें लगता है कि कल्पना सोरेन अब घड़ियाली आंसू बहाना और यह कहना बंद कर देंगी कि हेमंत सोरेन का अपराध क्या है?”

उन्होंने अवैध रकम का दुरुपयोग कर आम चुनाव को प्रभावित करने की आशंका जताते हुए चुनाव आयोग से अपील की है कि अविलंब सभी राज्य के मंत्रियों के ठिकानों पर छापेमारी कर चुनाव में काले धन का दुरुपयोग रोकें और कठोर कार्रवाई करें।

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने अपने एक्स अकाउंट पर लिखा, “30 करोड़ रुपए से अधिक और काउंटिंग जारी… आज ईडी की कार्रवाई में कांग्रेस विधायक दल के नेता व झारखंड सरकार के भ्रष्टाचार शिरोमणि हेमंत सरकार के मंत्री आलमगीर आलम के पर्सनल सेक्रेट्री संजीव लाल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई…संजीव लाल के आवास पर ईडी को मिला 30 करोड़ से अधिक कैश। प्रदीप यादव की पार्टी की कहानी।”

झारखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अमर कुमार बाउरी ने कहा है कि कैश बरामदगी की ताजा घटना ने साबित कर दिया है कि राज्य के इतिहास में झामुमो-कांग्रेस-राजद की यह सरकार सबसे भ्रष्ट है। इन्होंने ‘झारखंड’ को ‘लूटखंड’ बना दिया है।

बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार सुबह रांची में मंत्री आलमगीर आलम के पीए संजीव कुमार और कई अन्य के ठिकानों पर छापेमारी शुरू की है। संजीव कुमार के घर काम करने वाले एक व्यक्ति के घर से करोड़ों की नगद रकम बरामद हुई है। खबर है कि यह रकम 25 करोड़ से भी ज्यादा हो सकती है।