झारखंड लैंड जिहाद का सबसे बड़ा केंद्र, झारखंड की सरकार माफिया चला रहे हैं : अरुण सिंह (लीड-1)

0
24

रांची, 16 मई (आईएएनएस)। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री और राज्यसभा सांसद अरुण सिंह ने झारखंड सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने झारखंड को देश में लैंड जिहाद का सबसे बड़ा केंद्र बताते हुए कहा कि झारखंड में भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण चरम पर है, लैंड माफिया, सैंड माफिया, स्टोन माफिया, लिकर माफिया झारखंड सरकार को चला रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इनसे अनाप-शनाप पैसा ले रही है। इसी का नतीजा है कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, मंत्री जेल में हैं। दो-दो आईएएस अधिकारी भी जेल में हैं। यह पहला ऐसा राज्य है, जहां इतने अधिकारी भ्रष्टाचार के केस में जेल के अंदर हैं। जब भी इंडी गठबंधन की सरकार बनती है, झारखंड को सदैव लूटने का काम करती है। भाजपा और एनडीए की सरकार आने पर झारखंड को संवारने का काम करती है। जेएमएम, कांग्रेस, राजद गठबंधन की सरकार हमेशा लूटने का काम करती है। इसलिए झारखंड पीछे जा चुका है।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के चार चरण संपन्न हो चुके हैं। इसमें प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में एनडीए गठबंधन ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है। अब हम 400 के आंकड़े की ओर बढ़ रहे हैं। चार फेज में आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और अन्य राज्य में एनडीए गठबंधन को एकतरफा लाभ मिल रहा है। इंडी गठबंधन के लोगों में हताशा और निराशा है।

उन्होंने कहा कि झारखंड में इंडी गठबंधन की सरकार है, यहां भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण चरम पर है। आलमगीर आलम को गिरफ्तार किया गया है। 38 करोड़ रुपए उनके सहयोगी और नौकर के पास से मिले हैं तो कल्पना करना चाहिए कि कितने 100 करोड़ और उनके पास होंगे। इसके बाद भी आलमगीर आलम ने इस्तीफा नहीं दिया है। मुख्यमंत्री चंपई सोरेन से निवेदन है कि तुरंत उनसे इस्तीफा लें, जांच को और तेज करें। झारखंड की गरीब जनता से लूटे गए पैसे उजागर होने चाहिए।

उन्होंने कहा कि ये वही आलमगीर आलम हैं, जिन्होंने कोरोना काल के दौरान लॉकडाउन में तब्लीगी जमात के लोगों को जमा करके कोविड के नियमों को तोड़ा था। लॉकडाउन के नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई थी। तुष्टीकरण के कारण इनसे अभी तक इस्तीफा नहीं लिया गया है। राज्य सरकार को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

उन्होंने कहा कि झारखंड में तुष्टीकरण का खेल चल रहा है, लैंड जिहाद चल रहा है। बांग्लादेशी आते हैं, आदिवासी लड़कियों से शादी करते हैं। शादी करने के बाद जमीन हड़पते हैं। जमीन हड़पने के बाद लड़की को बोटी-बोटी काट देते हैं, लेकिन सरकार उन पर कार्रवाई नहीं करती क्योंकि, सरकार तुष्टीकरण के मार्ग पर चल रही है।

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव में राहुल गांधी और उनके नेता अलग-अलग जगह पर जाकर प्रचार कर रहे हैं। भाजपा और पीएम मोदी पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। जब यूपीए की सरकार थी, तब 12 लाख करोड़ रुपए का घोटाला हुआ था। लेकिन, पीएम मोदी के कार्यकाल में उन पर एक रुपए के भ्रष्टाचार का भी आरोप नहीं लगा है। ठगबंधन के लोगों को जब समय मिलता है विदेश चले जाते हैं, संसद सत्र में भी कभी थाईलैंड चले जाते हैं, कभी इंग्लैंड चले जाते हैं। लेकिन, 23 वर्ष में प्रधानमंत्री मोदी ने एक दिन भी छुट्टी नहीं ली। वह त्योहार भी सेना के जवानों के साथ जाकर मनाते हैं, यह दोनों में अंतर है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ राहुल गांधी और इंडी गठबंधन के नेता चांदी के चम्मच लेकर जन्म लिए हैं, दूसरी तरफ एनडीए का नेतृत्व कर रहे प्रधानमंत्री मोदी चाय बेचने वाले के घर में जन्म लेकर इस स्थान पर पहुंचे हैं, वे गरीबों की पीड़ा जानते हैं।

उन्होंने कहा कि एक तरफ इंडी गठबंधन ने सदैव राम मंदिर का विरोध किया। कोर्ट में खड़े होकर कहा कि जज साहब इतनी जल्दी क्या है। जजमेंट नहीं दें और 500 साल पुराने राम मंदिर के केस को उलझाते रहे, लटकाते रहे, भटकाते रहे। रोड़ा अटकाते रहे। दूसरी तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अयोध्या में राम मंदिर बनने का मार्ग प्रशस्त हुआ। पीएम मोदी ने राम मंदिर जाकर भूमि पूजन किया। वहां जाकर प्राण प्रतिष्ठा किया। मंदिर का लोकार्पण हुआ। वहां करोड़ों हिंदू जाकर भगवान राम की पूजा कर रहे हैं। दर्शन कर रहे हैं। याचना कर रहे हैं। भव्य राम मंदिर वहां बन गया है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और इंडी गठबंधन के लोगों ने राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा का बायकॉट किया। अब, मंदिर को पवित्र करने की बात कर रहे हैं। इंडी गठबंधन के एक नेता ने कहा कि सरकार में आने के बाद राम मंदिर को पवित्र करेंगे। सनातन रूप से जहां भगवान श्री राम रहते हैं, वह स्थल पवित्र ही होता है। उसे पवित्र कैसे करेंगे, इनकी मति खराब हो गई है।

इंडी गठबंधन के लोगों ने 6 दशक से अधिक देश पर राज किया। कश्मीर से 370 को कभी भी हटाने की बात नहीं की। जिसके चलते देश के कानून वहां लागू नहीं होते थे। देशवासियों को डराते थे कि अगर 370 हटाया गया तो वहां खून-खराबा हो जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में 370 को उठाकर फेंक दिया गया। अब पूरी तरीके से जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बन गया। अब वहां देश के सारे नियम-कानून लागू होते हैं। आरक्षण का कानून भी वहां लागू हुआ। भाजपा का संकल्प है कि पीओके भी भारत का अभिन्न अंग है। उसे भी हमें लेना है।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने घोषणा की है कि सरकार आने के बाद यूसीसी को लागू करेंगे। वन नेशन, वन इलेक्शन की ओर भी बढ़ेंगे। सीएए को पूरे देश में लागू करेंगे। गरीबों के लिए 3 करोड़ और मकान बनेगा। पीएम सौर घर योजना के माध्यम से आने वाले दिनों में गरीबों के घरों में बिजली मुफ्त होगी। उनके घर के ऊपर सोलर सिस्टम लगेगा, बिजली एक्स्ट्रा होने पर उसको बेच सकेंगे, उनकी आमदनी भी बढ़ेगी, यह प्रधानमंत्री का संकल्प है। इससे गरीबों को बहुत बड़ा लाभ होने वाला है। देश की 3 करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाने का संकल्प प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हुआ है। सेल्फ हेल्प ग्रुप में काफी महिलाएं काम करती हैं। 10 करोड़ सेल्फ हेल्प ग्रुप की महिलाओं को अलग-अलग काम करने का अवसर प्रदान कर उनकी आमदनी में बढ़ोतरी करने का संकल्प है। भारत आज प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में दुनिया की पांचवी अर्थव्यवस्था बना है। अब हम तीसरी अर्थव्यवस्था की ओर आगे बढ़ रहे हैं। झारखंड की सभी 14 लोकसभा की सीट एनडीए गठबंधन जीतने जा रही है।