डुनहुआंग संस्कृति की रक्षक छांग शाना

0
17

बीजिंग, 3 फरवरी (आईएएनएस)। चीनी चंद्र पंचांग के नव वर्ष की पूर्व संध्या 9 फरवरी की रात को है, चाइना मीडिया ग्रुप (सीएमजी) का “2024 स्प्रिंग फेस्टिवल गाला” दुनिया भर के दर्शकों के सामने पेश किया जाएगा। चीन में डुनहुआंग कला की अनुसंधान विशेषज्ञ, 93 वर्षीय छांग शाना ने “स्प्रिंग फेस्टिवल गाला” के लिए ख़ास तौर पर एक चित्र डिज़ाइन किया, जिसमें सुंदर, सुरुचिपूर्ण और अद्वितीय पारंपरिक चीनी पैटर्न सौभाग्य, खुशी, सुख और समृद्धि की इच्छा दर्शाते हैं।

पश्चिमोत्तर चीन में स्थित डुनहुआंग, एक समय प्राचीन सिल्क रोड पर एक महत्वपूर्ण शहर था और दुनिया की चार प्रमुख सभ्यताओं का चौराहा था। यहां एक प्रसिद्ध विश्व सांस्कृतिक विरासत है- मोकाओ गुफ़ा।

चौथी शताब्दी ईस्वी से शुरू होकर, कलाकारों की पीढ़ियों ने यहां बुद्ध की मूर्तियों को तराशने और भित्ति चित्र बनाने में एक हजार साल से अधिक समय बिताया, और अंततः मोकाओ गुफ़ा, बौद्ध गुफ़ा कला का ख़ज़ाना बन गया। 12 वर्ष की उम्र में छांग शाना अपने पिता के साथ डुनहुआंग आ गई।

डुनहुआंग भित्ति चित्रों की नकल करने से शुरू करके, फिर डुनहुआंग भित्ति चित्रों से ली गई प्रेरणा को नवीनीकृत करना और बदलना, और फिर अपने पिता की विरासत को संभालना, छांग शाना डुनहुआंग कला की रक्षा और प्रचार को अपने जीवन भर का लक्ष्य मानती हैं।

गत शताब्दी के 50 के दशक से, छांग शाना ने पेइचिंग में जन वृहद भवन, कैपिटल थिएटर और जातीय संस्कृति महल जैसी महत्वपूर्ण इमारतों की सजावट डिज़ाइन में भाग लिया है। अपनी रचनाओं में उन्होंने डुनहुआंग के तत्वों को शामिल किया है, जिससे डुनहुआंग की सांस्कृतिक विरासत अधिक जीवंत तरीके से लोगों के लिए सुलभ हो गई है।

डुनहुआंग छांग शाना के जीवन भर का प्यार है। उन्होंने कहा कि जातीय, वैज्ञानिक और लोकप्रिय रचनात्मक विचार न केवल सांस्कृतिक संदर्भ हैं, बल्कि आत्मविश्वास भी हैं।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)