तमिलनाडु में दलितों पर बढ़ा अत्याचार, राहुल और खरगे वहां क्यों नहीं जाते : एल मुरुगन

0
8

नई दिल्ली, 9 जुलाई (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री डॉ. एल. मुरुगन ने डीएमके सरकार के कार्यकाल में दलितों पर अत्याचार बढ़ने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खरगे के रवैये को लेकर भी सवाल उठाया है।

केंद्रीय मंत्री ने बसपा के तमिलनाडु प्रदेश अध्यक्ष के. आर्मस्ट्रांग की हत्या और तमिलनाडु के कल्लाकुरिची में जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले की सीबीआई जांच की मांग भी की।

मुरुगन ने मंगलवार को तमिलनाडु भाजपा के नेताओं के साथ राष्ट्रीय मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए बताया कि तमिलनाडु भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से मुलाकात कर इन मामलों में अपना ज्ञापन सौंपेगा।

राज्य में दलितों के खिलाफ बढ़ रहे अपराध की घटनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में बसपा के तमिलनाडु प्रदेश अध्यक्ष के. आर्मस्ट्रांग की हत्या कर दी गई। इससे पहले तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले में अवैध शराब के कारण 70 लोगों की मौत हुई, जिसमें 35 से ज्यादा दलित थे। राज्य में लगातार दलितों की हत्या हो रही है, दलित लड़कियों एवं महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहा है, उनका शोषण हो रहा है और डीएमके सरकार में दलितों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं।

मुरुगन ने कहा कि डीएमके को अब अपने आपको सामाजिक न्याय का चैंपियन कहने का अधिकार नहीं है क्योंकि उनके राज में दलितों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं, दलित नेता तक सुरक्षित नहीं हैं। राज्य में कानून व्यवस्था के मामले में डीएमके सरकार पूरी तरह से विफल साबित हो गई है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी हाथरस और अन्य जगह जाते हैं लेकिन वे तमिलनाडु क्यों नहीं गए ? मल्लिकार्जुन खरगे तमिलनाडु क्यों नहीं जाते ? क्या वे तमिलनाडु को भूल गए ?

एल. मुरुगन ने कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर राहुल गांधी को तमिलनाडु का रास्ता मालूम नहीं है तो भाजपा उनकी मदद करेगी। भाजपा उन्हें तमिलनाडु जाने के लिए हवाई टिकट तक देने को तैयार है।