दिल्ली में जल संकट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीजेपी का ‘आप’ पर हमला

0
10

नई दिल्ली, 6 जून (आईएएनएस)। दिल्ली में जारी जल संकट पर सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अपना फैसला सुनाया। इसके बाद इस पर राजनीति शुरू हो गई है। दिल्ली बीजेपी ने फैसले के बाद आम आदमी पार्टी पर हमला बोला है।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में हिमाचल प्रदेश को निर्देश दिया कि जल संकट से निपटने में मदद करने के लिए दिल्ली को 137 क्यूसेक अतिरिक्त पानी जारी करे।

न्यायमूर्ति प्रशांत कुमार मिश्रा और न्यायमूर्ति केवी विश्वनाथन की पीठ दिल्ली सरकार की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें संकटग्रस्त राष्ट्रीय राजधानी के लिए तत्काल पानी जारी करने की मांग की गई थी।

अदालत ने पहाड़ी राज्य से कहा कि वह हरियाणा बोर्ड को पूर्व सूचना देकर कल पानी छोड़े और हरियाणा को भी ये आदेश दिया गया है कि दिल्ली को पानी की निर्बाध आपूर्ति की व्यवस्था की जाए।

भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया है, जिसमें हिमाचल प्रदेश को दिल्ली को अधिक जल जारी करने के लिए कहा गया है। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पिछले एक महीने से दिल्ली में जल संकट के दौरान हमने देखा कि दिल्ली की मंत्री आतिशी बीजेपी शासित हरियाणा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को रोमांचक पत्र लिख रही थीं, जानते हुए कि वे पहले से ही अधिक जल दे रहे हैं। हमारे अनुरोध के बावजूद, उसने कभी अपने इंडी गठबंधन साथी कांग्रेस शासित हिमाचल प्रदेश को पत्र नहीं लिखा, लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा या उत्तर प्रदेश से नहीं, बल्कि हिमाचल प्रदेश से अधिक जल जारी करने के लिए कहा है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग अरविंद केजरीवाल सरकार को उनके जल संकट के बीच गंदी राजनीति के लिए कभी माफ नहीं करेंगे।

गौरतलब है कि बीते कई दिनों से दिल्ली में लगातार जल संकट बना हुआ है और इसके लिए दिल्ली सरकार ने हरियाणा सरकार पर अतिरिक्त पानी न देने का आरोप लगाया था।