देश और विदेश के निवेशकों को डराने की कोशिश कर रहे हैं राहुल गांधी : पीयूष गोयल

0
12

नई दिल्ली, 6 जून (आईएएनएस)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने आरोप लगाया है कि लोकसभा चुनाव में मिली हार की हताशा में वो देश और विदेश के निवेशकों को भ्रमित कर डराने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा राष्ट्रीय मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता पीयूष गोयल ने कहा कि राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भाजपा और हमारे नेताओं पर अनाप-शनाप आरोप लगाए हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि लोकसभा चुनाव में विपक्ष की हार की हताशा से राहुल गांधी अभी तक उबर नहीं पाए हैं।

गोयल ने आरोप लगाया कि फिर एक बार नरेंद्र मोदी सरकार का बनना तय है और इससे राहुल गांधी परेशान नजर आ रहे हैं। अब राहुल गांधी मार्केट के इंवेस्टर्स को भी गुमराह करने की साजिश रच रहे हैं। वो अपने बयानों के जरिए देश और विदेशों के निवेशकों को भ्रमित करने की कोशिश कर उन्हें निवेश के लिए हतोत्साहित करने का प्रयास कर रहे हैं। जबकि, सब जानते हैं कि शेयर बाजार में कई वजहों से बदलाव होते रहते हैं और दुनिया भर में यह इसी तरह चलता है।

गोयल ने कहा कि आज भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। पूरी दुनिया, भारत को सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के रूप में स्वीकार रहा है। पीएम मोदी ने देश को आश्वस्त किया है कि उनके तीसरे कार्यकाल में भारत विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। मोदी सरकार के 10 साल के सफल कार्यकाल की वजह से शेयर बाजार ने कीर्तिमान और रिकॉर्ड बनाए हैं, मार्केट से हमारे भारतीय निवेशकों ने भी लाभ लिया है। आज भारतीय शेयर बाजार दुनिया के टॉप देशों की लिस्ट में शामिल है। यही वजह है कि आज देश और दुनिया का विश्वास भारत, भारत की सरकार और पीएम मोदी के ऊपर है। दुनिया भर में भारतीय शेयर बाजार का मान-सम्मान है और सेबी ने भी कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं।

उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के कार्यकाल में भारत का मार्केट कैप सिर्फ 67 लाख करोड़ का था, जो मोदी सरकार के 10 वर्षों के कार्यकाल में तेजी से और कई गुना बढ़कर 415 लाख करोड़ पहुंच गया है।

उन्होंने भारतीय निवेशकों के लाभ कमाने का जिक्र करते हुए दावा किया कि यूपीए सरकार की तुलना में मोदी सरकार के कार्यकाल में विदेशी निवेशकों की भागीदारी कम हुई है और भारतीय निवेशकों, खासकर खुदरा निवेशकों, की भागीदारी और आमदनी दोनों बढ़ी है। पिछले दो महीनों में विदेशी निवेशकों की तुलना में भारतीय निवेशकों ने ज्यादा लाभ कमाया है। एग्जिट पोल आने के बाद भी भारतीय निवेशकों ने महंगे दामों पर शेयर बेचकर लाभ लिया और जब चुनावी नतीजा आने के बाद बाजार गिरा तब भी भारतीय निवेशकों ने सस्ते दामों पर खरीदकर कमाई की और भारतीय निवेशकों का नुकसान नहीं हुआ। पिछले दिनों में जो भी नुकसान हुआ है, वो विदेशी निवेशकों का ही नुकसान हुआ है।

एक सवाल के जवाब में पीयूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया था कि हमारी सरकार आ रही है और हमारा दावा सही भी साबित हुआ, भाजपा तीसरी बार सरकार बनाने जा रही है। जहां तक दावे का सवाल है तो दावा तो राहुल गांधी ने भी किया था कि उनकी 295 से ज्यादा सीटें आने वाली है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद हैं और उन्हें इस बात की चिंता करनी चाहिए कि मतगणना के दिन जब शुरू में उनके गठबंधन की सीटें ज्यादा नजर आ रही थी तो मार्केट गिरना शुरू हो गया था यानी बाजार को कांग्रेस पर भरोसा नहीं था।

राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि आज लोगों के सामने सबसे बड़ा प्रश्न ये खड़ा हो रहा है कि जो-जो वादे राहुल गांधी ने किए थे, उसका क्या हुआ? देश में कई जगहों पर हमारी बहनें-माताएं कांग्रेस के कार्यालय के बाहर खड़ी हैं। आज महिलाएं तेलंगाना, हिमाचल और कर्नाटक में कांग्रेस की सरकारों से पूछ रही हैं कि जो एक लाख रुपए प्रति महिला को देने का वादा किया गया था, वो क्यों नहीं पूरा कर रहे हैं। आज महिलाएं कांग्रेस की सरकारों से अपना हक और न्याय मांग रही हैं।